रोपा वैली की तीन पंचायतों के युवाओं ने सरकार के खिलाफ की नारेबाजी, जाने क्या है बड़ा कारण

0
74

किन्नौर: जिला किन्नौर की रोपा वैली (Ropa Valley of Kinnaur) के मध्य बहने वाली नदी में प्रदेश सरकार द्वारा जलविद्युत परियोजना स्थापित करने के लिए प्रस्ताव पास किया जाना (Hydroelectric Project in Ropa River) है. जिसको लेकर रोपा वैली के करीब तीन पंचायतों के युवाओं ने आज प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी (Youth Protest in Ropa Kinnaur) की.

रोपा के तीन पंचायत के युवाओं समेत रोपा वैली के कुछ पंचायत प्रतिनिधियों ने भी परियोजना के विरोध में युवाओं का साथ दिया और रोपा वैली के नदी में जलविद्युत परियोजना के प्रस्ताव को सरकार द्वारा निरस्त करने की मांग उठाई है. रोपा वैली के शुन्नम पंचायत के उपप्रधान जीता सिंह नेगी की अध्यक्षता में युवाओं ने शुन्नम से लेकर रोपा तक जगह-जगह रैली का आयोजन भी किया.

इस दौरान युवाओं ने रोपा नदी पर जलविद्युत परियोजना स्थापित करने के प्रस्ताव को सरकार द्वारा पास किए जाने पर नाराजगी जताई है. शुन्नम पंचायत के उपप्रधान जीता सिंह नेगी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि रोपा वैली के मध्य एक मात्र नदी बहती है, जो वैली के लोगों के लिए जीवनदायिनी नदी मानी जाती है. इस नदी से रोपा का इतिहास जुड़ा है और इस नदी से रोपा वैली के कई ग्रामीण क्षेत्र सिंचाई व पीने के पानी का प्रयोग करते हैं.

ऐसे में प्रदेश सरकार द्वारा गुपचुप तरीके से रोपा नदी में परियोजना स्थापित करने के लिए प्रस्ताव पास करना सरासर गलत है. जिसका आने वाले दिनों मे वैली के सभी ग्रामीण सड़कों पर उतरकर विरोध करेंगे. रोपा वैली के युवाओं ने जिले में चले नो मीन्स नो सेव किन्नौर अभियान के तहत भी रोपा वैली मे प्रस्तावित जलविद्युत परियोजना का यदि सरकार प्रस्ताव निरस्त नई करती है, तो ऐसी परिस्थिति में जिलास्तर पर सरकार का विरोध करने का निर्णय लिया गया है.

समाचार पर आपकी राय: