Taliban Crisis: घर घर में तलाशी ले रहे तालिबानी, डर से बाथरूम में छुप रहे लोग

राजधानी काबुल से लेकर कंधार और जलालाबाद लेकर हेरात. अफगानिस्तान के लगभग हर छोटे बड़े शहर में सन्नाटा पसरा है. सड़कों और चौराहों पर हथियार लहराते सिर्फ तालिबान (Taliban) के लड़ाके दिख रहे हैं.

आमलोगों में तालिबान का इतना ज्यादा खौफ है कि वो घरों से बाहर नहीं निकल रहे. कहा जा रहा है कि तालिबान के लड़ाके इस वक्त घर-घर तलाशी कर रहे हैं. वो ऐसे लोगों को निशाना बनाने की फिराक में जिसने अमेरिका या फिर अफगान सरकार की मदद की हो. तलाशी के दौरान जब तालिबान के लड़ाके एक घर में पहुंचे तो लोग डर के मारे बाथरूम में छुप गए.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक जैसे ही तालिबान के लड़ाकों ने एक अपार्टमेंट में पहुंच कर दरवाजा खटखटाया, घर के अंदर खलबली मच गई. परिवार के 16 सदस्य एक बाथरूम में छुप गए. लाइट्स बंद कर दी. मोबाइल फोन को स्विच ऑफ कर दिया. बच्चों को चुप रखने के लिए उनके मुंह बंद कर दिए. तालिबान को लेकर इस परिवार में इतना ज्यादा डर है कि वो कोई जोखिम लेना नहीं चाहता. पिछले 12 महीनों के दौरान इस परिवार ने खौफ का मंजर देखा है. इनकी आंखों के सामने दो परिवारों को मौत के घाट उतार दिया गया.

‘खौफ में जी रहे हैं हम’
परिवार के सदस्य ने कहा, ‘मेरा परिवार डरा हुआ है. जैसे ही वो किसी कार को सड़क से गुजरते हुए देखते हैं, वे वॉशरूम की ओर भागते हैं.’ परिवार के इस सदस्य ने आगे कहा कि वो किसी तरह अफगानिस्तान से भागना चाहते हैं. उन्होंने कई देशों की सरकारों से उन्हें वीजा दिलाने की अपील की है. यहां के लोगों को अब खाने की भी दिक्कत हो रही है. कीमतें आसमान छु रही हैं.

बदला लेने की फिराक में तालिबान
खुफिया एजेंसियों के सदस्यों का मानना ​​​​है कि तालिबान के आश्वासन के बावजूद कि वे बदला नहीं लेना चाहते हैं और महिलाओं को अधिकार देंगे लोगों में डर का माहौल है. खास कर तालिबान का सबसे ज्यादा डर यहां के समाजिक कार्यकर्ता, महिलाओं, पूर्व अधिकारियों, पत्रकारों और पूर्व सैनिकों को है. सोशल मीडिया पर लोग डरावने वीडियो शेयर कर रहे हैं. तालिबानी लड़ाके सड़कों पर लोगों को मार रहे हैं. घर-घर की तलाशी ली जा रही है. हालांकि तालिबान की तरफ से अभी इसकी पुष्टि नहीं की गई है.

error: Content is protected !!