आत्मसमर्पण कर चुके पुलिस प्रमुख हाजी मुल्ला को तालिबानियों ने सरेआम गोलियां से भुना

अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद तालिबान की क्रूरता बढ़ती जा रही है। यह मामला बदगीस प्रांत का है। बदगिस के पुलिस प्रमुख हाजी मुल्ला को तालिबानियों ने सरेआम गोलियों ने भून दिया। यहां तक कि उनके शव पर भी गोलियां दागीं। जबकि वह कुछ दिन पहले ही तालिबान के समक्ष आत्मसमर्पण कर चुके थे। 

पूर्व पुलिस प्रमुख हाजी मुल्ला की नृशंस हत्या का वीडियो सामने आया है। इसमें तालिबानियों ने हाजी मुल्ला के दोनों हाथ बांधकर घुटनों के बल किसी अनजान जगह पर बैठा रखा है। उनके हाथ भी बंधे हुए हैं। तालिबानी स्थानीय भाषा में उनसे कुछ बोल रहे हैं। तभी उन पर दनादन गोलियां बरसाई जाती हैं। 

चार कमांडरों को भीड़ के सामने मार डाला था
इससे पहले तालिबान ने चार कमांडरों को कंधार के एक स्टेडियम में भीड़ के सामने मौत के घाट उतार दिया था। इसकी बुधवार को एक तस्वीर सामने आई थी। बताया गया है कि इन कमांडरों ने भी 13 अगस्त को तालिबान के समक्ष सरेंडर किया था। 

नाखून उखाड़ने वाले पुलिस प्रमुख को भी मार डाला
बीते वर्षों के दौरान तालिबानी लड़ाकों के नाखून उखाड़ने वाले अफगानी कमांडर पाचा खान को तालिबानियों ने कंधार में मार डाला। वह शाह वली कोट के पुलिस प्रमुख थे। खान को तालिबान द्वारा देश में आम माफी की घोषणा करने से पहले मारा गया था। 

error: Content is protected !!