सुक्खू सरकार ने अब तक 513 संस्थानों को किया डिनोटिफाई, 56 संस्थान और होंगे बंद, प्रक्रिया जारी

0

शिमला: सुखविंदर सिंह सुक्खू ने सीएम शपथ लेने के बाद 12 दिसंबर को एक बड़ा फैसला लिया था. इसके तहत पूर्व जयराम सरकार के समय में 1 अप्रैल 2022 के बाद खोले गए संस्थानों को डिनोटिफाई किया था. सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू ने विधानसभा सदन में बताया कि 1 अप्रैल 2022 के बाद पूर्व जयराम सरकार के कार्यकाल में खोले गए 513 संस्थानों को 27 दिसंबर 2022 डिनोटिफाई किया गया है.

इसके अलावा 56 संस्थानों को डिनोटिफाई करने की प्रक्रिया जारी है. पूर्व जयराम सरकार ने 01 अप्रैल 2022 के बाद वित्त विभाग को 584 संस्थान खोलने या अपग्रेड करने के प्रस्ताव भेजे थे, जिनमें से केवल 94 संस्थान खोलने को मंजूरी मिली थी. जबकि 480 संस्थानों के प्रस्ताव रिजेक्ट कर दिए थे. इसके बावजूद जयराम सरकार ने संस्थान खोले थे. 

120 स्कूलों में नए कोर्स शुरू करने के फैसले को भी पलटा- प्रदेश की सुखविंदर सिंह सुक्खू सरकार द्वारा पूर्व जयराम सरकार के समय में विभिन्न संस्थानों में नई स्ट्रीम, कोर्स शुरू करने के फैसले को भी डिनोटिफाई किया जा रहा है. जिनमें पूर्व सरकार द्वारा 120 वरिष्ठ माध्यमिक स्कूलों में साइंस और कॉमर्स स्ट्रीम खोलना और 03 कॉलेज में साइंस क्लासेस शुरू करने का भी फैसला शामिल हैं. पूर्व सरकार के समय में 08 आईटीआई में 17 नए ट्रेड शुरू करने के फैसले को भी डिनोटिफाई किया जा रहा है.

वित्त विभाग की मंजूरी के बिना ही खोल दिए दो एसडीएमऑफिस- पूर्व जयराम सरकार ने दो एसडीएम कार्यालय खोल दिए थे, जिनके लिए वित्त विभाग को कोई प्रस्ताव मंजूरी के लिए नहीं भेजा गया. यह एसडीएम ऑफिसपूर्व मंत्री विक्रम सिंह ठाकुर के जसवां-परागपुर विधानसभा में खोले गए. सुखविंदर सिंह सुक्खू सरकार के आते ही ये दोनों एसडीएम कार्यालय डिनोटिफाई किए गए. 

Previous articleHPBOSE ने 7 विषयों की अध्यापक पात्रता परीक्षाओं की Answer Key की जारी, वेबसाइट से करें डाउनलोड
Next articleट्रक ऑपरेटरों ने निकाली अडानी की शवयात्रा, दधोल चौक पर फूंका पुतला

समाचार पर आपकी राय: