कुल्लू और ऊना में UG परीक्षा परिणाम के खिलाफ उतरे छात्र, विश्वविद्यालय के खिलाफ प्रदेश भर में रोष

0
3

कुल्लू/ऊना: हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के द्वारा बीते दिनों बीए प्रथम वर्ष का परिणाम जारी किया गया, लेकिन इस परिणाम में कई खामियां हैं. इसमें अधिकतर छात्रों को फेल कर दिया गया है, जबकि उनका प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है. विश्वविद्यालय प्रबंधन के द्वारा जारी परिणामों का आज जिला कुल्लू के मुख्यालय ढालपुर में भी विरोध किया गया. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के द्वारा ढालपुर के राजकीय महाविद्यालय में धरना प्रदर्शन किया गया और विश्वविद्यालय प्रबंधन से मांग की गई कि दोबारा से इन परिणामों की जांच की जाए. (ABVP Protest In Kullu) (UG Students Protest against Result In Himachal)

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कुल्लू इकाई अध्यक्ष सोरभ नेगी ने बताया कि यह धरना प्रदर्शन हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय की ओर से घोषित किए गए स्नातक प्रथम वर्ष के परीक्षा परिणाम के विरोध में किया गया. सौरभ का कहना है कि प्रदेश में विद्यार्थी परिषद का मानना है कि छात्रों का जो परिणाम घोषित किया गया है वह सही नहीं है. छात्रों का भी कहना है कि हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय ने बीते सोमवार को बीएससी व बीकॉम का रिजल्ट घोषित किया. जिसमें बीएससी के छात्र अपने परिणाम से संतुष्ट नहीं है.

इसी के चलते एबीवीपी छात्र संगठन ने धरना प्रर्दशन कर परिणाम को दुरूस्त करने की मांग रखी है. सौरभ ने बताया कि एचपीयू ने विद्यार्थियों की उत्तरपुस्तिकायां किसी निजी संस्थान में चेकिंग के लिए भेजी थी. जिससे आशंका जताई जा रही है कि रिजल्ट खराब होने का एक कारण यह भी हो सकता है. वहीं, छात्रों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद पूरे प्रदेश में खराब परिणाम के लिए धरना प्रदर्शन कर रही है. (ABVP Protest In Himachal) (HPU 1st Year Result)

ऊना में भी छात्रों ने किया प्रदर्शन: वहीं, जिला ऊना में भी पीजी कॉलेज में शुक्रवार को प्रथम वर्ष के छात्र छात्राओं ने जमकर हंगामा किया. हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी द्वारा एक ही कक्षा के छात्रों को दो-दो रिजल्ट दिए जाने के बाद मामला तूल पकड़ता जा रहा है. विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा 21 नवंबर को जारी किए गए रिजल्ट में जहां छात्र छात्राओं को पास दिखाया गया था वहीं महज 4 दिन के भीतर अपडेट किए गए रिजल्ट में सैकड़ों छात्र-छात्राओं को फेल कर दिया गया है. (ABVP Protest In Una) (Student Protest in HPU)

छात्र-छात्राओं का यह भी तर्क है कि 10+2 की वार्षिक परीक्षाओं में जो 80-80 प्रतिशत नंबर लेकर कॉलेज तक पहुंचे थे उनके साथ विश्वविद्यालय प्रशासन ने आंख मूंदकर अन्याय करने का काम किया है. शुक्रवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के बैनर तले छात्रों ने जमकर रोष प्रदर्शन किया. दूसरी तरफ कॉलेज प्रशासन का कहना है कि मामले को विश्वविद्यालय प्रशासन के ध्यान में लाया गया है जल्द ही इसका हल निकाला जाएगा. 

समाचार पर आपकी राय: