हमीरपुर में आवारा कुत्तों ने 3 साल की बच्ची की नोच नोच कर की जान

0
3

हमीरपुर: नगर परिषद हमीरपुर के वार्ड नंबर 8 नया नगर में 3 साल की एक बच्ची को आवारा कुत्तों ने नोच-नोच कर मार (Dogs killed a Three year old girl in Hamirpur) डाला. बताया जा रहा है कि सफाई कर्मचारी की यह बेटी अपने झुन्गी से पिछली तरफ खेत में शौच के लिए गई थी. कुछ देर तक जब बच्चे वापस नहीं लौटे तो घर वालों ने उसकी तलाश शुरू की. झुन्गी से कुछ ही दूरी पर बच्ची को कुत्ते नोच रहे थे. परिजनों के पहुंचते ही कुत्ते तो भाग गए लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी.

कुत्तों ने 3 साल की मासूम को पूरी तरह से नोच-नोच कर मार दिया था. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस टीम भी मौके पर पहुंची और बच्ची के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज हमीरपुर (Hamirpur Medical College) में लाया गया है. जानकारी के मुतबिक होशियारपुर निवासी माखन लाल, हमीरपुर शहर में सफाई का कार्य करता है. उसके एक बेटा और बेटी है. वह नगर परिषद हमीरपुर के वार्ड नं 8 नया नगर, हमीर हॉस्पिटल के सामने एक झुग्गी झोपड़ी में अपने परिवार के साथ रहता है.

वीरवार को माखनलाल की 3 साल की बेटी अपनी झुग्गी झोपड़ी के पिछले तरफ खेत में शौचालय के लिए निकली थी. इसी दौरान उसे आवारा कुत्तों के झुंड ने झपट लिया और झोपड़ी से कुछ दूरी पर उसे बुरी तरह से नोच दिया दिल को दहला देने वाली इस घटना से हमीरपुर शहर में हड़कंप मच गया है. कुत्तों ने मासूम को इतनी बुरी तरह से नोचा था कि उसके शरीर की हड्डियां तक निकल गई थी. परिजनों ने जब झोपड़ी से कुछ ही दूरी पर अपने बच्चे को देखा तो बड़ी मुश्किल से सबने मिलकर कुत्तों को भगाया. जब उन्होंने बच्ची को देखा तो उसका कान, पीठ, चेहरा और शरीर का काफी हिस्सा कुत्तों ने नोच खाया था और टांग की हड्डी तक निकाल दी थी.

नगर परिषद हमीरपुर के अध्यक्ष मनोज कुमार मिन्हास ने कहा कि घटना की सूचना मिलते ही वह मौके पर पहुंचे थे. यह बेहद ही दर्दनाक घटना थी. उन्होंने कहा कि पुलिस टीम ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज हमीरपुर में ले जाया गया है. प्रभावित परिवार को अपनी तरफ से 3 हजार की आर्थिक मदद दी गई है. उन्होंने कहा कि परिवार को प्रशासन की तरफ से भी हर संभव मदद दिए जाने का प्रयास किया जाएगा और आवारा कुत्तों की समस्या का स्थाई समाधान निकालने का प्रयास भी किया जाएगा.

समाचार पर आपकी राय: