Shradha Murder Case: पुलिस करेगी सीसीटीवी मैपिंग, चेक करेगी छह महीने का रिकॉर्ड

0
1

दिल्ली. श्रद्धा वालकर हत्याकांड की जांच कर रही दिल्ली पुलिस अब छतरपुर एरिया की सीसीटीवी मैपिंग कर रही है, ताकि मई में हुई हत्या के सिलसिले में पिछले 6 महीने का रिकॉर्ड खंगाला जा सके. हालांकि, ज्यादातर जगह 15 दिन की ही सीसीटीवी रिकॉर्डिंग होती है… ऐसे में 6 महीने पुराना रिकॉर्ड निकालना बेहद मुश्किल है.

कुछ हालिया सीसीटीवी फुटेज में आफताब अपने फ्लैट की तरफ आता-जाता नजर आ रहा है, जिसके आधार पर पुलिस ये जानने की कोशिश कर रही है कि इन दिनों वो किनसे मिल रहा था. दिल्ली पुलिस के शीर्ष सूत्रों ने बुधवार को न्यूज18 को यह जानकारी दी.

पुलिस सूत्रों के बताया कि आरोपी आफताब ने आखिरी जॉब गुरुग्राम के एक कॉल सेंटर में की थी जहां 6,7 दिन गैरहाजिर रहने के चलते इसे निकाल दिया गया था. जानकारी मिली है कि आफताब का परिवार दिल्ली पुलिस के सम्पर्क में है और वो कहीं गायब नहीं हुए हैं. इस बीच, श्रद्धा के पिता का डीएनए सैम्पल ले लिया गया है और जंगल से करीब 10 से 13 हड्डियां बरामद की गई हैं जिन्हें फोरेंसिक लैब में भेजा गया है जिससे पता लगेगा कि वो श्रद्धा की हड्डियां हैं या किसी जानवर की.

महरौली के जिस घर में आफताब ने घटना को अंजाम दिया वहां से कुछ ब्लड के निशान मिले हैं, जिसकी जांच श्रद्धा के पिता के डीएनए सैम्पल किया जाएगा, ताकि यह पता लगाता जा सके कि खून के जो निशान मिले हैं वो श्रद्धा वालकर के ही हैं या किसी और के. पुलिस सूत्रों ने घटना का उल्लेख करते हुए कहा, ’18 मई को पहली बार झगड़ा नहीं हुआ था. आफताब और श्रद्धा का तीन साल से झगड़ा चल रहा था. कई बार वो ब्रेकअप करने का प्लान कर चुके थे, एक बार ब्रेकअप कर भी लिया था, लेकिन फिर साथ आ गए.’

उन्होंने आगे बताया, ’18 मई की शाम को दोनों के बीच घर का सामान लेने को लेकर झगड़ा हुआ. एक-दूसरे से कहते थे घर का खर्च और सामान कौन लाएगा. इस पर आफताब को बहुत गुस्सा आया और रात 8 बजे से 10 बजे के बीच उसका गला दबाकर कत्ल कर दिया. रात भर बॉडी रूम में ही रखी और अगले दिन चाकू और फ्रीज खरीदने गया. पुलिस के लिए अभी काफी काम बाकी है क्योंकि घटना में शामिल हथियार बरामद नहीं हुआ है, श्रद्धा का मोबाइल भी नहीं मिला है, श्रद्धा का सिर बरामद नहीं हुआ है, आफताब और श्रद्धा के हत्या के दिन पहने हुए कपड़े नहीं मिले हैं. ये कपड़े एक कूड़े की चलती गाड़ी में फेक दिए थे.’

दिल्ली पुलिस ने छह महीने पुराने हत्या के इस मामले को सुलझाते हुए आरोपी आफताब अमीन पूनावाला को अपनी लिवइन पार्टनर श्रद्धा की हत्या करने, उसके शरीर को 35 टुकड़ों में काटने और उन्हें ठिकाने लगाने के आरोप में 12 नवंबर को गिरफ्तार किया है.

पुलिस के मुताबिक, आरोपी आफताब ने दिल्ली शिफ्ट होने के बाद छतरपुर में एक फ्लैट किराए पर लिया और श्रद्धा के साथ वहां रहने लगा था. 18 मई को छतरपुर के इस फ्लैट में कथित तौर पर उसने श्रद्धा की गला दबाकर हत्या कर दी थी. पुलिस को पता चला कि हत्या से कुछ दिन पहले ही फ्लैट किराए पर लिया गया था. पीड़िता के शरीर के कथित तौर पर 35 टुकड़े करने वाले आरोपी ने पुलिस को बताया कि वह उन्हें ठिकाने लगाने के लिए रात दो बजे निकलता था.

समाचार पर आपकी राय: