Shradha Murder Case: दिल्ली पुलिस नही जुटा पा रही सबूत, CBI से जांच के लिए दिल्ली हाई कोर्ट में याचिकाकर्ता की दलील

0
6

श्रद्धा हत्याकांड मामले की जांच सीबीआई से कराने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट में एक याचिका लगाई गई है। यह याचिका एक वकील की तरफ से लगाई गई है। याचिका में कहा गया है कि श्रद्धा हत्याकांड 6 महीने पहले हुआ था।

ऐसे में मामले की जांच सीबीआई से कराई जाए, क्योंकि दिल्ली पुलिस में प्रशासनिक-कर्मचारियों की कमी और आधुनिक व वैज्ञानिक उपकरणों के अभाव की वजह से साक्ष्य जुटाने में दिक्कत हो रही है। इसकी वजह से जांच भी प्रभावित हो रही है।

6 महीने बाद हुआ मामले का खुलासा

पुलिस के मुताबिक श्रद्धा वाकर की हत्या उसके लिवइन पार्टनर आफताब ने 18 मई को की थी। इसके बाद शव के 35 टुकड़े करके दिल्ली के महरौली के जंगलों में फेंक दिया था। मामले का खुलासा तब हुआ, तब श्रद्धा के दोस्तों की उससे कई दिनों तक बाद नहीं हुई। इसके बाद दोस्तों की शिकायत पर श्रद्धा के पिता ने पालघर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई। जांच में पालघर पुलिस को श्रद्धा की आखिरी लोकेशन दिल्ली में मिली थी। जिसके बाद मामले को दिल्ली पुलिस को ट्रांसफर कर दिया गया था।

लिव इन पार्टनर की गिरफ्तारी से हुआ मामले का खुलासा

दिल्ली पुलिस ने मामले में जांच की तो दिल को झकझोर देने वाले खुलासे हुए। मामले में पुलिस ने श्रद्धा के लिव इन पार्टनर को जब गिरफ्तार किया तो उसने पहले गुनाह को नहीं कुबूला और इधर-उधर की बातें कर रहा था। पहले उसने पुलिस को बताया कि वह उसे छोड़कर कई दिनों से भाग गई है। उसका कुछ पता नहीं है। हालांकि, जब पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की तो उसने सच उगल दिया।

श्रद्धा का सिर अभी भी बरामद नहीं

दिल्ली पुलिस अभी तक श्रद्धा वाकर का सिर बरामद नहीं कर पाई है। हालांकि, महरौली के जंगलों में उसे इंसानी खोपड़ी जरूर मिली है। लेकिन अभी तक इसका पता नहीं चल पाया है कि खोपड़ी श्रद्धा का है। हालांकि, पुलिस की तरफ से इसकी जांच कराई जा रही है। पुलिस के मुताबिक आफताब नशे की आदि था और वह हर दिन नशा करता था। साथ ही उसके कई लड़कियों से भी संबंध थे। इसको लेकर श्रद्धा से उसकी लड़ाई होती थी। ऐसे में 18 मई की रात को उसे जब श्रद्धा ने नशे नहीं करने के लिए टोंका तो वह गुस्से में गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद शव के 35 टुकड़े करके फ्रीज में रख दिया और धीरे-धीरे करके शव के एक-एक टुकड़े को महरौली के जंगलों में फेंक दिया।

समाचार पर आपकी राय: