अफगानिस्तान से और ज्यादा लोगों को निकालने के लिए अमेरिका से किया मदद का आग्रह, देश की स्थिति खराब

अफगानिस्तान में तालिबान शासकों के निशाने पर आने वाले संभावित लोगों को निकालने के लिए काम कर रहे संगठनों के एक गठबंधन ने देश में स्थिति और खराब होने के बाद सोमवार को अमेरिकी सरकार और अन्य देशों से अधिक सहायता के लिए अपील की।

‘अफगान इवैक कोएलिशन’ के सदस्यों ने विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन से वीडियो कॉल के जरिए मुलाकात की और अफगानिस्तान से लाखों लोगों को बाहर निकालने में मदद के लिए अतिरिक्त संसाधन मुहैया कराने का आग्रह किया। अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद अफगानिस्तान अब एक अनिश्चित सुरक्षा स्थिति के अलावा गहराते आर्थिक और मानवीय संकट का सामना कर रहा है।

गठबंधन के सदस्यों ने बाद में कहा कि विदेश मंत्रालय ने अब तक जो किया है, उसके लिए वे आभारी हैं, जिसमें वापसी के बाद से अमेरिकी नागरिकों और निवासियों के लिए निकासी उड़ानों की व्यवस्था करने में मदद करना शामिल है। लेकिन, उन्होंने कहा कि आने वाले महीनों में और अधिक मदद की आवश्यकता होगी।

अफगानिस्तान में पूर्व में नौसैनिक के तौर पर सेवा दे चुके और अब गठबंधन के सदस्य ‘टीम अमेरिका’ के साथ काम कर रहे पीटर लुसियर ने कहा, “विदेश मंत्रालय का ‘पर्याप्त’ करना भी पर्याप्त नहीं है, हमें समस्त सरकारी समाधान चाहिए, हम चाहते हैं कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय मदद बढ़ाए और हमें जल्द से जल्द इसकी जरूरत है।”

उन्होंने कहा, “सर्दियां आ रही हैं। वहां पहले से ही अकाल की स्थिति भी है।” निजी संगठनों, विशेष रूप से भूतपूर्व सैनिकों के समुदाय, ने अमेरिका के सबसे लंबे युद्ध को समाप्त करने और तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जा कर लेने के बाद से हजारों अफगानों को निकालने और उनके पुनर्वास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

error: Content is protected !!