बलग स्कूल के टॉपर छात्रों को फ्री रेल और हवाई यात्रा करवाएंगे प्रिसिपल संदीप शर्मा, दो छात्राओं को दे चुके है 1-1 लाख

0

शिमला। Shimla News, शिमला जिला के शिक्षा खंड ठियोग की राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बलग के पढ़ाई में उत्कृष्ट स्थान प्राप्त करने वाले मेधावी विद्यार्थियों को स्कूल के प्रधानाचार्य डा. संदीप शर्मा हवाई यात्रा करवाएंगे।

बच्चों में पढ़ाई के प्रति रुचि व प्रतिस्पर्धा की भावना उत्पन्न करने के लिए प्रधानाचार्य ने एक नायाब तरीका अपनाया गया है। प्रधानाचार्य ने बताया कि शैक्षणिक सत्र 2022 के दौरान छठी से आठवीं कक्षा में उत्कृष्ट स्थान प्राप्त करने वाले बच्चों को चंडीगढ़ शहर की सुखना झील सहित विभिन्न प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों का भ्रमण करवाया जाएगा। इसी प्रकार नवमीं और दसवीं की परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को वातानुकूलित (AC) रेल यात्रा व 11वीं व 12वीं कक्षा के मेधावी विद्यार्थियों अपने खर्च पर किसी महानगर का हवाई सफर से भ्रमण करवाया जाएगा।

दो छात्राओं को दिए थे एक-एक लाख रुपये

डा. संदीप शर्मा ने हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड (HPBOSE) में जमा दो की परीक्षा में टाप 10 में आने पर दो छात्राओं को अपनी जेब से एक -एक लाख रुपये की राशि प्रदान करके पुरस्कृत किया गया था। चियोग स्कूल में अतिरिक्त कमरों के निर्माण के लिए दस लाख की राशि भी प्रदान की थी।

बच्चों को नशे से बचाने के लिए आगे आएं अभिभावक

समग्र शिक्षा अभियान के तहत शिक्षा खंड कुमारसैन के अंतर्गत जय बिहारी लाल खाची राजकीय उत्कृष्ट वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कुमारसैन में रविवार को स्कूल प्रबंधन समिति के सदस्यों ने नशे की बढ़ती प्रवत्ति पर चिंता जताई। इसमें स्कूल प्रबंधन समिति सदस्यों और अभिभावकों ने हिस्सा लिया। इस दौरान ब्लाक प्रोजेक्ट आफिसर कुमारसैन सुरभि बाली, बीआरसीसी रंजीत चौहान, स्कूल प्रबंधन समिति कुमारसैन के प्रधान विशाल वर्मा के अलावा रिसोर्सपर्सन इंद्रदेव (टीजीटी) और विवेक शर्मा (जेबीटी), राहुल और सुमेश भी मौजूद रहे।

बीपीओ कुमारसैन व प्रिंसिपल सुरभि बाली ने समाज में बढ़ रही नशे की प्रवृत्ति पर चिंता जताते हुए बच्चों को नशे से बचाए रखने का आह्वान किया। बीआरसीसी रंजीत चौहान ने अभिभावकों को साइबर सेफ्टी पर जागरूक किया। जबकि रिसोर्सपर्सन इंद्रदेव और विवेक शर्मा ने नेशनल एजुकेशन पालिसी 2020 के अलावा साइबर सेफ्टी, वोकेशनल एजुकेशन और आपदा प्रबंधन आदि विषयों पर जानकारी दी गई।

Previous articleहिमाचल में लोक अदालतों ने रचा इतिहास, एक साथ हुई 1,13,670 मामलों की सुनवाई, निपटाए 61,804 केस
Next articleLuo Tribe: इस जनजाति में है सेक्स को लेकर अनोखा रिवाज, एक से ज्यादा करते है शादियां

समाचार पर आपकी राय: