चीन : राष्ट्रपति शी जिनपिंग को तीसरे कार्यकाल के लिए सीपीसी का अधिवेशन हुआ प्रारंभ 

राष्ट्रपति शी जिनपिंग के अभूतपूर्व तीसरे कार्यकाल का रास्ता बनाने के लिए सीपीसी के सैकड़ों वरिष्ठ अधिकारियों ने 100 साल पुरानी सत्ताधारी पार्टी के एक दुर्लभ ‘ऐतिहासिक प्रस्ताव’ पर चर्चा करने के लिए सोमवार को सम्मेलन में हिस्सा लिया। साथ ही उस प्रस्ताव को पारित करने के लिए चीन में चार दिनी सम्मेलन शुरू किया है।

चार दिन के इस सम्मेलन में 400 पूर्ण और वैकल्पिक सदस्यों ने लिया हिस्सा
सीपीसी केंद्रीय समिति के लगभग 400 पूर्ण और वैकल्पिक सदस्य इस अधिवेशन में हिस्सा ले रहे हैं। सीपीसी की 19वीं केंद्रीय समिति ने अपना छठा पूर्ण सत्र शुरू किया। सीपीसी केंद्रीय समिति के महासचिव शी ने राजनीतिक ब्यूरो की ओर से एक कार्य रिपोर्ट दी और पार्टी के 100 वर्षों की प्रमुख उपलब्धियों और ऐतिहासिक अनुभव पर एक मसौदा प्रस्ताव पर स्पष्टीकरण दिया।

शी जिनपिंग के पास चीन की सत्ता के तीनों केंद्र हैं जिनमें सीपीसी महासचिव का पद, केंद्रीय सैन्य आयोग (सीएमसी) के अध्यक्ष पद और राष्ट्रपति का पद शामिल है। राष्ट्रपति के तौर पर शी अगले साल अपना पांच साल का दूसरा कार्यकाल पूरा करने वाले हैं।

यह बैठक शी के लिए अहम है, जो सत्ता में अपने पिछले नौ वर्षों के कार्यकाल में पार्टी के संस्थापक माओ त्से तुंग के बाद सबसे शक्तिशाली नेता के तौर पर उभरे हैं।

आजीवन सत्ता में रह सकते हैं जिनपिंग
अपने पूर्ववर्ती हू जिनताओ के विपरीत जिनपिंग के तीसरे कार्यकाल के लिए पद पर बने रहने की पूरी संभावना है। जिनताओ दो कार्यकाल के बाद सेवानिवृत्त हुए थे। जिनपिंग 2018 में एक सांविधानिक संशोधन के तहत आजीवन सत्ता में बने रह सकते हैं। इस संशोधन ने राष्ट्रपति के लिए अधिकतम दो कार्यकाल की सीमा को हटा दिया था।

error: Content is protected !!