Kabul Blasts: गर्मी से बचने के लिए नाले में खड़े थे लोग, ब्लास्ट के बाद बना खून का नाला

अफगानिस्तान (Afghanistan) के काबुल में हामिद करजई इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Kabul Airport) पर हुए आत्मघाती धमाकों में मरने वालों की तादाद बढ़ती जा रही है. अभी तक की जानकारी के मुताबिक, धमाकों में अब तक 105 लोगों की मौत हो चुकी है.

1138 लोग घायल हुए हैं. इस बीच धमाके के बाद का एक वीडियो शेयर किया जा रहा है. वीडियो एक नाले की है. मृतकों और घायलों से भरे इस नाले में लोग एक दूसरे की मदद करते नजर आ रहे हैं. ये नाला शवों से भरा पड़ा है और इसका पानी भी खून के चलते लाल हो गया है मानों ये ‘खून का नाला’ हो.

ट्विटर पर दावा किया गया कि ये वीडियो काबुल एयरपोर्ट पर हुए हमले के बाद का है. कई लोगों के पूरे परिवार इस धमाके में खत्म हो गए. इनमें कई लाशें लावारिस भी हैं, जिनका अंतिम संस्कार व्यवस्था पर निर्भर है. ऐसी व्यवस्था जो अफगानिस्तान में अब खत्म हो चुकी है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कुछ लोग गर्मी से बचने के लिए घुटनों तक भरी पानी वाले नाले में खड़े थे. तभी एक हमलावर ने उनपर हमला किया. देखते ही देखते शव पानी में बिखर गए. कुछ ही देर में पूरा दृश्य बदल गया. जो लोग विमान में बैठकर देश छोड़ने की उम्मीद कर रहे थे वो कुछ देर बाद एंबुलेंस में जाते या ले जाते दिखे.

हमले वाले दिन सुबह अलर्ट जारी किया गया था. महिलाओं-बच्चों समेत कई लोग अफगानिस्तान छोड़ने के लिए बेताब थे. अपना घर, संपत्ति, यादें सब छोड़कर अपने और अपने बच्चों के एक बेहतर भविष्य के लिए देश से निकलने के लिए जद्दोजहद कर रहे थे, लेकिन उन्हें ये नहीं पता था जिस बेहतर भविष्य का सपना देख अफगानिस्तान छोड़ रहे हैं वो भविष्य एक झटके में खत्म हो जाएगा.

IS से संबद्ध ISIS-K ने हमले की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि उसने अमेरिकी सैनिकों (US Troops) और उसके अफगान सहयोगियों को निशाना बनाया. बयान के साथ एक तस्वीर भी साझा की गई. आतंकवादी संगठन ने कहा कि यह वही हमलावर है, जिसने हमले को अंजाम दिया. तस्वीर में कथित हमलावर को काले IS झंडे के सामने विस्फोटक बेल्ट के साथ खड़ा देखा जा सकता है, जिसके चेहरे पर एक काला कपड़ा बंधा है और केवल उसकी आंखें दिख रही हैं. बयान में दूसरे आत्मघाती हमलावर या बंदूकधारियों का कोई जिक्र नहीं था. दावे को स्वतंत्र रूप से सत्यापित नहीं किया जा सका है.

अमेरिका के 13 जवानों की मौत
काबुल हवाई अड्डे के पास हुए सीरियल बम धमाकों में अमेरिका के 13 जवानों की मौत हो गई है. राष्ट्रपति जो बाइडन ने ऐलान किया है कि अफगानिस्तान से अमेरिकी नागरिकों को निकालने का काम जारी रहेगा. हमले के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा, ‘हम माफ नहीं करेंगे. हम नहीं भूलेंगे. हम चुन-चुनकर तुम्हारा शिकार करेंगे और मारेंगे. आपको इसका अंजाम भुगतना ही होगा.’

error: Content is protected !!