तालिबान की शक्ल में सामने आ रहे पाकिस्तानी सैनिक, जिंदा पकड़े पाकिस्तानी अफसर ने खोली पोल

अफगानिस्तान में तालिबान की शक्ल में पाकिस्तानी फौज के अफसर और सिपाही अफगानी सुरक्षाबलों से लड़ रहे हैं। अफगानी सुरक्षाबलों के हाथों पकड़े गए पाकिस्तानी आर्मी अफसर ने बताया कि तालिबान की शक्ल में अफगानिस्तान में 10-20 नहीं पाकिस्तान की रेग्युलर आर्मी के हजारों सिपाही लड़ रहे हैं। पाकिस्तान सरकार और आर्मी बलोचिस्तान की तरह ही अफगानिस्तान पर कब्जा करना चाहती है कि इसी लिए तालिबानी लड़ाकों की शक्ल में अपने फौजी नेताओं की शक्ल में अपने गुर्गे तैनात कर रखे हैं। अफगान सुरक्षाबालों के हत्थे लगे इस पाकिस्तानी आर्मी अफसर का नाम अजीम अख्तर है।

अजीम के वालिद और चाचा भी पाकिस्‍तानी सेना में काम कर चुके हैं।पाकिस्‍तानी सेना के इस अधिकारी को डांड पाटन जिले में पकड़ा गया है। अख्‍तर ने मीडिया के सामने स्‍वीकार किया कि वह तालिबान की ओर से जंग लड़ रहा है। अजीम अख्‍तर ने बताया कि पाकिस्‍तानी सेना ने उसे डेढ़ साल तक ट्रेनिंग दी है।

पाकिस्‍तानी सेना के अधिकारी ने कहा, ‘मुझे कश्‍मीर में जंग लड़ने के लिए भेजा गया, उसके बाद पेशावर और फिर वहां से पाराचिनार भेजा गया जहां पर मुझे एक सेना के अड्डे पर भेजा गया। यही पर तालिबान भी हमले में शामिल थे। पाकिस्‍तानी सेना के अधिकारियों ने अख्‍तर को बताया कि सीमा के उस पार कई पाकिस्‍तानी सैनिक मौजूद हैं जो तालिबान के साथ मिलकर जंग लड़ रहे हैं। पाकिस्‍तान लंबे समय से तालिबान की मदद करता रहा है।

पाकिस्‍तानी सैन‍िक को अफगानिस्‍तान में ऐसे समय पर पकड़ा गया है जब अफगानिस्‍तान में तालिबान ने भीषण हमले शुरू कर दिए हैं। तालिबान ने अफगानिस्तान में तजाकिस्तान के साथ मुख्य बॉर्डर पर कब्जा जमा लिया है। अधिकारियों का कहना है कि सुरक्षाबलों ने अपनी पोस्ट छोड़ दी हैं और कुछ सीमा पार कर फरार हो गए। अफगानिस्तान में उत्तरी शीर खान बंदर कुंडूज शहर से करीब 50किलोमीटर दूर है और अमेरिकी सेना के बाहर जाने के बाद से यह तालिबान के कब्जा में जाने वाला पहला बड़ा इलाका है।

कुंडूज प्रांतीय परिषद के सदस्य खालिद्दीन हकमी ने बताया है, ‘दुर्भाग्य से सुबह एक घंटे की लड़ाई के बाद तालिबान ने शीर खान बंदरगाह और शहर और ताजिकिस्तान की सीमा पर चेक पोस्ट कब्जा लिए।’ वहीं, सेना के एक अधिकारी ने बताया है कि वे सीमा पर चेक पोस्ट छोड़ने के लिए मजबूर हो गए और कुछ सैनिक सीमा पार कर ताजिकिस्तान चले गए। सुबह तक तालिबान के लड़ाके हर जगह थे।

Share This News:

Get delivered directly to your inbox.

Join 1,139 other subscribers

error: Content is protected !!