मेडिकल कॉलेज हमीरपुर में गलत टीका लगाने से नवजात बच्ची की मौत, एफआईआर दर्ज

0
119

हमीरपुर: मेडिकल कॉलेज हमीरपुर (Medical College Hamirpur) में कथित तौर पर गलत टीका लगाने से दो दिन की नवजात बच्ची की मौत हो गई है. मामले में बच्ची के माता पिता ने सदर थाना हमीरपुर में शिकायत की है. परिजनों का आरोप है कि उनकी बच्ची की सेहत ठीक थी और मां बेटी को डिस्चार्ज करने की बात डॉक्टर की तरफ से की गई (Newborn girl dies in Medical College Hamirpur) थी. परिजनों ने यह भी दावा किया है कि जो टीका किसी अन्य बच्चे को लगाया जाना था वह गलती से मेडिकल कॉलेज के स्टाफ ने उनकी बेटी को लगा दिया जिससे उनकी बच्ची की मौत हो गई.

गलत टीका लगाने का लगाया आरोप: बता दे यह मामला वीरवार देर शाम का है. साढ़े छह बजे के करीब बच्ची को टीका लगाया गया और पांच मिनट के बाद ही बच्ची की मौत हो गई. परिजनों ने इसके बाद पुलिस में शिकायत दी. परिजनों की तरफ से शिकायत लिखने के बाद सदर थाना की टीम अस्पताल से लौट गई, लेकिन इसके बाद भी यहां पर शिकायत करने वाले लोगों की शिकायत कम नहीं हुई. बताया जा रहा है कि देर रात नन्ही बच्ची के परिजनों को घर जाने के लिए 108 और 102 एंबुलेंस तक मुहैया नहीं हुई. जिस वजह से यह लोग देर रात तक अस्पताल में भटकते रहे.

मामले में एफआईआर दर्ज: मृत नन्ही बच्ची को लेकर सरकाघाट गाहर निवासी विशन दत्त ने मेडिकल कॉलेज पर लापरवाही के आरोप लगाए है. मेडिकल कॉलेज हमीरपुर के एमएस डॉक्टर रमेश चौहान का कहना है कि मामले में जांच की जाएगी उसके बाद भी कुछ कहा जा सकता है. वहीं, सदर थाना हमीरपुर के एसएचओ संजीव गौतम ने कहा कि शिकायत मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची. मामले में आगामी छानबीन की जा रही है.

वीरवार को किया जाना था डिस्चार्ज: वहीं, मृत बच्ची के पिता विशन दत्त ने कहा कि उनकी बेटी की सेहत ठीक थी. डॉक्टर की तरफ से मां और बेटी को डिस्चार्ज करने की बात कही गई थी. उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी रितिका शर्मा की डिलीवरी 28 सितंबर को हुई थी. डिलीवरी के बाद उनकी बेटी की सेहत अच्छी थी और बेटी को दो टीके लगाने की बात डॉक्टर ने कही थी. 29 सितंबर यानी वीरवार को डॉक्टर ने कहा कि एक टीका लगाने के बाद मां बेटी को डिस्चार्ज कर (Newborn Baby dies in Hamirpur) देंगे.

एंबुलेंस सेवा भी नहीं हुई मुहैया: उन्होंने आरोप लगाया कि किसी और बच्चे को टीका लगाया जाना था वह गलती से उनकी बेटी को लगाया गया है. अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ पुलिस में शिकायत दी और मौके पर पहुंची पुलिस ने बयान तो दर्ज किए, लेकिन आगे क्या कार्रवाई हुई इस बारे में नहीं बताया गया. पुलिस कर्मियों के लौटने के बाद वह अपनी पत्नी और मृत बेटी को घर ले जाने के लिए भटकते (Newborn Baby dies Medical College Hamirpur) रहे, लेकिन उन्हें 102 और 108 एंबुलेंस मुहैया नहीं करवाई गई.

समाचार पर आपकी राय: