नाहन में राष्ट्रीय बालिका दिवस का आयोजन, डीसी आरके गौतम बोले, बेटियों ने हर क्षेत्र में उच्च मुकाम हासिल किया

0

नाहन। उपायुक्त सिरमौर आर. के गौतम की अध्यक्षता में मंगवालर को नाहन में राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा जिला स्तरीय कार्यक्रम संपन्न हुआ।

आर.के. गौतम ने इस अवसर पर अपने सम्बोधन में कहा कि महिलाओं के बिना सभ्य समाज की कल्पना भी नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा कि आज समाज की सोच बदल रही है बेटियों ने हर क्षेत्र में उच्च मुकाम हासिल किए हैं। उन्होंने कहा कि हमें बदलाव अपने ही घर से लाने की आवश्यकता है तभी हम समाज में बदलाव ला सकते हैं।

उन्होंने कहा कि आज इस राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर हमें प्रतिज्ञा लेनी चाहिए कि हम बेटा-बेटी में कोई भी भिन्नता नहीं समझेंगे और एक बेटी को भी बेटे की तरह ही शिक्षित करेंगे ताकि वह शिक्षित होकर आत्मनिर्भर होने के साथ-साथ अपने माता-पिता, प्रदेश व देश का नाम रोशन कर सके। उन्होंने कहा कि यह खुशी की बात है कि जिला सिरमौर में लिंग अनुपात काफी बेहतर है।

उपायुक्त ने इस अवसर पर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत शिक्षा, खेलकूद स्काउटस एण्ड गाईड तथा अन्य क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली 15 बालिकाओं को पांच-पांच हजार रुपये की प्रोत्साहन राशी बतौर पुरस्कार भी प्रदान किए।
इस अवसर पर हाल ही में जन्मी 5 बेटियों का ‘‘बालिका जन्मोत्सव्’’  भी मनाया गया तथा उन्हे पारितोषिक प्रदान किये गये।

जिला कार्यक्रम अधिकारी सुनील शर्मा ने बताया  कि माहिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा महिलाओं एवं बालिकाओं के हित में  बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ,  सशक्त् महिला योजना,  वन स्टाप सेंटर, वो दिन, बेटी है अनमोल योजना, मदर टेरेसा योजना,  शगुन योजना,  मुख्यमंत्री कन्यादान योजना और प्रधानमंत्री मातृ वंदना आदि योजनायें विभाग द्वारा चलाई जा रही हैं जिनमें  विभिन्न् प्रकार से महिलाओं एवं बालिकाओं को प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती है।

अतिरिक्ति पुलिस अधीक्षक सोम दत ने महिलाओं एवं बालिकाओं को उनके अधिकारों के बारे में अवगत करवाते हुए बताया कि पुलिस विभाग के पास घरेलू हिंसा संबंधी बहुत ही शिकायतें दर्ज होती है। उन्होंने महिलाओं से अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहने का आग्रह किया। उन्होंने युवाओं को नशे से दूर रहने आग्रह करते हुए अपने आप को व्यस्त रखने के लिए खेल व अन्य गतिविधियों का सहारा लेने का परामर्श दिया।

डाईट के विद्यार्थियों ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ पर लघु नाटिका प्रस्तुत की जबकि आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए।
इस अवसर पर आयुर्वेदा अधिकारी डा. रेनु शर्मा ने न्यूट्रिशन एवं स्वास्थ्य तथा डा. निसार अहमद ने पीएनडीटी एक्ट की जानकारी प्रदान की।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. अजय पाठक, वन स्टाॅप सेंटर की रविता चैहान, चाईल्ड हैल्प लाईन के राजेन्द्र सिंह, जिला महिला कल्याण अधिकारी रूचि देवी, जिला बाल संरक्षण अधिकारी रमा रेटका व अन्य सम्बन्धित अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित रहे।

Previous articleराष्ट्रीय बालिका दिवस पर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के अंतर्गत छात्राओं को दिया कैरियर परामर्श
Next articleउपायुक्त हमीरपुर द्वारा किया गया वित्तिय साक्षरता केन्द्र हमीरपुर का शुभारम्भ

समाचार पर आपकी राय: