NASA के Ingenuity ने रचा इतिहास! दूसरी दुनिया में 30 मिनट तक उड़ान भरने वाला पहला एयरक्राफ्ट बना हेलिकॉप्टर

अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA के Ingenuity हेलिकॉप्टर ने मंगल ग्रह पर 18 बार उड़ान भरी है. इस तरह Ingenuity हेलिकॉप्टर पहला ऐसा एयरक्राफ्ट बन गया है, जिसने पृथ्वी से इतर किसी दूसरे ग्रह पर कुल मिलाकर 30 मिनट तक उड़ान भरी है. हेलिकॉप्टर ने अपनी 18वीं उड़ान के दौरान 124 सेकेंड तक हवा में वक्त गुजारा.

Ingenuity हेलिकॉप्टर ने अभी तक अपनी कुल मिलाकर भरी गई उड़ान के 30 मिनट के दौरान मंगल ग्रह पर 3.5 किलोमीटर की दूरी को तय किया है. इस दौरान NASA के मिनी हेलिकॉप्टर ने 40 फीट की ऊंचाई तक उड़ान भरी और पांच मीटर प्रति सेकेंड की रफ्तार पकड़ी.

NASA के Ingenuity हेलिकॉप्टर को मंगल ग्रह पर पांच बार उड़ाने का टारगेट रखा गया था. इसके पीछे का इरादा मंगल ग्रह के चुनौतीपूर्ण वातावरण में हेलिकॉप्टर को उड़ाकर टेक्नोलॉजी की परख करना था. हालांकि, इसने पांच से ज्यादा बार उड़ान भरकर वैज्ञानिकों को महत्वपूर्ण डाटा मुहैया कराया है.

Ingenuity हेलिकॉप्टर ने पहली बार इस साल 19 अप्रैल को मंगल ग्रह पर उड़ान भरी. इससे ये साबित हुआ कि मंगल ग्रह पर उड़ान भरी जा सकती है. NASA की Ingenuity टीम का नेतृत्व करने वाले टेडी तजानेटोस ने एक बयान में कहा, कई लोगों ने सोचा कि हम मंगल पर पहली उड़ान भर लेंगे, उससे भी कम लोगों ने सोचा की पांच उड़ान संभव हो पाएगी.

टेडी तजानेटोस ने कहा कि किसी ने भी ये नहीं सोचा था कि मंगल ग्रह पर Ingenuity हेलिकॉप्टर इतनी बार उड़ान भर पाएगा. मिनी हेलिकॉप्टर ने ग्रह की ठंड को झेला है और वहां पर उड़ान भरी है. एयरक्राफ्ट की उड़ान ये दिखाती है कि इसका डिजाइन कितना बेहतर था और ये टीम की मेहनत को भी प्रदर्शित करती है.

अपनी 18वीं उड़ान के दौरान Ingenuity हेलिकॉप्टर ने 233 मीटर की दूरी तय की और सतह से 10 मीटर ऊपर तक उड़ान भरी. इस दौरान इसने 2.5 मीटर प्रति सेंकेड की रफ्तार से उड़ान भरी. बता दें कि परसिवरेंस रोवर के जरिए Ingenuity हेलिकॉप्टर को मंगल ग्रह पर ले जाया गया था.

Please Share this news:
error: Content is protected !!