हिमाचल में मानसून का कहर; बरसात से हुई 384 मौतें, 2300 करोड़ से ज्यादा के नुकसान का अनुमान

0
54

शिमला: बरसात के दौरान प्रदेश में अब तक विभिन्न हादसों में 384 लोगों की मौत हो गई है. इसके अलावा अलग-अलग हादसों में 711 लोग घायल हुए हैं. बरसात के सीजन में जून अंत से लेकर अब तक करीब 2300 करोड़ की संपत्ति का नुकसान हुआ है. इसके अलावा पिछले सात दिनों में 13 लोगों की जान भी चली गई. मुख्य सचिव आरडी धीमान ने कहा कि केंद्र की तरफ से 200 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता तुरंत प्रदान करने से बड़ी राहत मिली है. इससे आवश्यक सुविधाओं को रिस्टोर करने में सहायता मिली है.

पिछले कुछ दिनों से प्रदेश में (Damage due to heavy rain in Himachal) लगातार हो रही बारिश से संपत्ति को भारी नुकसान पहुंचा है. अब तक 384 लोग अलग-अलग हादसों में जान गवां चुके हैं. सबसे अधिक जानी नुकसान शिमला और मंडी जिले में हुआ है. शिमला और मंडी इन दोनों जिलों में क्रमश 62-62 लोग काल का शिकार हुए हैं. शिमला में 135 और मंडी में 85 लोग घायल हुए हैं.

भारी बारिश के कारण सड़कों की खराब दशा और वाहन हादसों के कारण सबसे अधिक 202 लोग मारे गए हैं. भूस्खलन के कारण 19 लोगों की जान गई है. बादल फटने से 10 लोग बह गए. बाढ़ में डूबने से 35 लोगों की जान गई. वहीं, सर्प दंश के कारण 25 लोगों की मौत हुई. करंट लगने से भी 13 लोगों ने जान गंवाई. पेड़ों और खाई से गिरने के कारण 53 लोगों की मौत हुई.

जिलावार देखें तो बिलासपुर में 18, चंबा में 40, हमीरपुर में 14, कांगड़ा में 29, किन्नौर में 8, कुल्लू में 38, लाहौल स्पीति में 10, मंडी में 62, शिमला में 62, सिरमौर में 38, सोलन में 24, ऊना में 41 लोगों की जान भारी बारिश के कारण हुए हादसों में हुई है.

समाचार पर आपकी राय: