जानें किस कानून के उल्लंघन पर फूड डिलीवरी एप पर लगा 5 अरब रुपये का जुर्माना

0

ऐप-बेस्ड फूड डिलीवरी स्टार्टअप ग्लोवो पर श्रम कानूनों को तोड़ने के लिए 57 मिलियन यूरो 5,07,12,96,361.77 भारतीय रूपये) का स्पेन के श्रम मंत्रालय द्वारा ताजा जुर्माना लगाया गया है.

जर्मन कंपनी डिलीवरी हीरो के स्वामित्व वाले ग्लोवो पर अपने राइडर्स को 2021 के कानून के अनुसार उचित रोजगार समझौता प्रदान नहीं करने और वर्क लाइसेंस के बिना लगभग 800 अनडॉक्यूमेंटिड इमिग्रेंट्स को काम पर रखने के लिए जुर्माना लगाया गया.

क्या है कानून जिसके तहत लगा जुर्माना
राइडर कानून, जो अगस्त 2021 में लागू हुआ, के तहत कहा गया है कि कि कुरियर जो आमतौर पर साइकिल और मोटरसाइकिल पर खाना ले जाते हैं, कर्मचारियों के रूप में पहचाना जाए न कि स्वतंत्र ठेकेदारों के रूप में, जैसे वे पहले पहचाने जाते थे.

यह यूरोपीय कानून का एक महत्वपूर्ण तत्व है जो विशेष रूप से उन डिलीवरी कर्मचारियों की स्थिति को नियंत्रित करता है, जो मोटरबाइक और साइकिल पर यात्रा करते हैं और जिनकी संख्या खतरनाक कामकाजी परिस्थितियों के बावजूद हाल ही में बढ़ी है.

क्या कहा श्रम मंत्री ने?

श्रम मंत्री योलान्डा डियाज़ ने कहा, ‘कोई भी कंपनी, चाहे वह कितनी भी बड़ी या छोटी क्यों न हो, कानून के बाहर नहीं रहनी चाहिए.’

क्या कहा कंपनी ने?
ग्लोवो ने जवाब में कहा कि वह नवीनतम जुर्माने के खिलाफ अपील करेगा. उसने दावा किया कि श्रम मंत्रालय द्वारा उल्लिखित उल्लंघन राइडर कानून लागू होने से पहले हुआ था.

Previous articleमंडी में विक्रमादित्य सिंह का हुआ भव्य स्वागत, कैबिनेट मंत्री बोले, गुणवत्ता को दरकिनार करने वाले ठेकेदार होंगे ब्लैकलिस्ट
Next articleक्या महज़ बिना बताए दोस्त से मिलने जाने पर श्रद्धा का हुआ क़त्ल, पुलिस ने चार्जशीट में किया खुलासा

समाचार पर आपकी राय: