ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, MP में सभी का स्वागत, कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, घर वापसी का संकेत

0
12

शिमला: अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के एक प्रवक्ता ने पीटीआई-भाषा से कहा कि मध्य प्रदेश में राहुल गांधी की अगुवाई वाली भारत जोड़ो यात्रा के लिए केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की ‘स्वागत’ टिप्पणी उनकी ‘घर वापसी’ का संकेत हो सकती है.

भारत जोड़ो यात्रा 23 नवंबर की सुबह पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र से मध्य प्रदेश के बुरहानपुर जिले के बोदरली गांव में पहुंची. भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 23 नवंबर को इस मार्च का जिक्र करते हुए कहा था, ‘मध्य प्रदेश में सभी का स्वागत है.’ आपको बता दें कि कांग्रेस के पूर्व सदस्य, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कमलनाथ से अनबन के बाद मार्च 2020 में पार्टी छोड़ दी थी और भाजपा में आ गए थे. बाद में उन्हें केंद्र की मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री बनाया गया.

कांग्रेस प्रवक्ता और हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौड़ ने ज्योतिरादित्य सिंधिया की टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर न्यूज एजेंसी से कहा, ‘यह उनकी घर वापसी का संकेत हो सकता है.’ उन्होंने गत 12 नवंबर को समाप्त हुए हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के बारे में कहा कि पहाड़ी राज्य में अब तक का सर्वाधिक मतदान परिवर्तन का स्पष्ट संकेत है, क्योंकि लोग भाजपा के नेतृत्व वाली राज्य सरकार से नाखुश हैं, उन्होंने कहा कि कांग्रेस स्पष्ट बहुमत के साथ हिमाचल प्रदेश में सरकार बनाएगी. राठौर ने कहा कि भाजपा की हार की पटकथा पिछले साल तीन विधानसभा और एक लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव में हार के बाद लिख दी गई थी, जब कांग्रेस ने कीमतों में वृद्धि, मुद्रास्फीति और गैर-शासन को उपचुनाव में प्रमुख मुद्दों के रूप में उजागर किया था.

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के नए मुख्यमंत्री का फैसला विधायक और पार्टी आलाकमान करेगा. खरीद-फरोख्त के सवाल पर कुलदीप सिंह राठौड़ ने कहा, ‘इस तरह की प्रथा बहुत संभव है, लेकिन हमें अपने सदस्यों की सत्यनिष्ठा पर पूरा भरोसा है.’ उन्होंने पार्टी नेताओं से अनुशासित रहने का आह्वान करते हुए कहा कि अभी और भी कई चुनौतियों का सामना करना है. गौरतलब है कि राहुल गांधी के नेतृत्व में गत 7 सितंबर को तमिलनाडु के रामेश्वरम से भारत जोड़ो यात्रा का आगाज हुआ था. यह यात्रा 150 दिनों तक चलेगी और इस दौरान 3500 किलोमीटर की दूरी तय करेगी. इसका समापन जम्मू-कश्मीर में होगा. भारत जोड़ो यात्रा अब तक तमिलनाडु, तेलंगाना, केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश से गुजर चुकी है.

समाचार पर आपकी राय: