5जी स्पेक्ट्रम नीलामी में 700 मेगाहर्ट्ज बैंड को खरीदने वाली जियो अकेली कंपनी

0
97

नयी दिल्ली, 02 अगस्त (वार्ता)। 5 जी स्पेक्ट्रम (5G Spectrum) की नीलामी में रिलायंस समूह की दूरसंचार कंपनी जियो 22 टेलीकॉम सर्किल्स में प्रीमियम 700 मेगाहर्ट्ज बैंड खरीदने वाली अकेली ऑपरेटर है। 5जी के लिए अच्छा माने जाने वाले इस बैंड पर सभी ऑपरेटर्स की नजर थी। कंपनी (company) ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि विश्व भर में 700 मेगाहर्ट्ज बैंड को 5जी के लिए प्रमुख बैंड की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है। जिसे अमेरिका और यूरोपीय यूनियन ने इसे 5जी सर्विस के लिए ‘प्रीमियम बैंड’ घोषित किया हुआ है।

दुनिया भर में इस बैंड के लोकप्रिय होने की कई वजह हैं। टेलीकॉम क्षेत्र की जानकार रोहन धमीजा (Rohan Dhamija) ने कहा कि 700 मेगाहर्ट्ज बैंड की लोकप्रियता की सबसे बड़ी वजह इसकी बेहतरीन इनडोर और आउटडोर कवरेज को मानते हैं। लो फ्रीक्वेंसी बैंड होने के कारण इसके सिग्नल इमारतों के भीतर तक प्रवेश कर सकते हैं। इस बैंड को घनी आबादी के क्षेत्रों और भारी डेटा खपत वाले इलाकों के लिए आदर्श माना जाता है।

उन्होंने कहा कि 700 मेगाहर्ट्ज बैंड का टावर करीब 10 किलोमीटर तक कवरेज दे सकता है। इसकी कवरेज के कारण ऑपरेटर को कम टावर लगाने पड़ते हैं जिससे परिचालन लागत कम आती है। संचार मंत्री अश्विनी वैष्णव (ashwini vaishnav) ने भी 700 मेगाहर्ट्ज बैंड को, दूर-दराज के ग्रामीण या भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में कनेक्टिविटी प्रदान करने में मदद करेने वाला बताया था। विशेषज्ञ मानते हैं कि 700 मेगाहर्ट्ज बैंड, 1800 मेगाहर्ट्ज की तुलना में 5 गुना और 900 मेगाहर्ट्ज की तुलना में दोगुना अधिक कुशल है। 26 गीगाहर्ट्ज हाई फ्रीक्वेंसी मिलीमीटर बैंड की गति तो तेज है पर इसकी कवरेज बेहद सीमित है। साथ ही, 2100 मेगाहर्ट्ज के मुकाबले 700 मेगाहर्ट्ज में ब्रॉडबैंड सेवाएं देना सस्ता पड़ता है।

समाचार पर आपकी राय: