मंडी में मोदी की रैली में जाना नही होगा आसान, यह काम किए बिना नहीं मिलेगी एंट्री

0
139

शिमला: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (MP Narendra Modi) 24 सितंबर को हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के मंडी (Mandi) जिले के पड्डल मैदान में एक रैली को संबोधित करेंगे. इस रैली को ‘युवा संकल्प रैली'(Yua Sankalp Rally) नाम दिया गया है. इसकी खास बात यह है कि क्यूआर कोड (QR Code) स्कैन होने के बाद ही इसमें प्रवेश मिलेगा. इस रैली के लिए बीजेपी (BJP) के युवाओं का संगठन भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) हर सदस्य को कार्ड जारी करेगा. इस कार्ड में क्यूआर कोड लगा होगा.भाजयुमो एक लाख से ज्यादा कार्ड सदस्यों को जारी करेगा. पीएम मोदी की रैली में हर बूथ से करीब 20 भाजयुमो कार्यकर्ताओं को लाने का लक्ष्य है. रैली में भाजयुमो के जिन कार्यकर्ताओं के पास आई कार्ड होंगे, इस पर लगे क्यूआर कोड को स्कैन करने के बाद ही रैली स्थल पर एंट्री मिलेगी.

रैली में किसको मिलेगी एंट्री

बिना क्यूआर कोड वालों के रैली स्थल में आने की इजाजत नहीं होगी. बीजेपी ने इस रैली को पूरी तरह से भाजयुमो के लिए ही किया है.इसमें एक लाख भाजयुमो कार्यकर्ताओं को लाने के लिए परिवहन कमेटियां हर जिले में काम कर रही हैं.कार्ड के आधार पर ही वाहनों की पार्किंग तक की व्यवस्था की जाएगी.

देश भर की पहली रैली होगी, जिसमें महज 40 साल की उम्र से नीचे के लोगों को ही एंट्री होगी. इसके अलावा अन्य कोई नहीं होगा. हालांकि बीजेपी के अन्य नेता मौजूद रहेंगे. उन पर यह नियम लागू नहीं होगा.रैली को राज्य भर से जो भी लोग प्रधानमंत्री मोदी को सुनने पहुंचेंगे, उनकी आयु 40 साल से अधिक नहीं होगी.

भाजयुमो ने की है यह तैयारी

भाजयुमो की इस रैली के माध्यम से केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं को आम जनता तक कैसे पहुंचा सकते हैं . बीजेपी की देश के प्रति क्या सोच है, प्रदेश के युवाओं के लिए क्या विजन है. उन्हें इसके बारे में पूरी जानकारी मुहैया कराई जाएगी. बीजेपी ने अभी तक कई तरह की रैलियां देश भर में की है.लेकिन इस तरह की रैली बीजेपी पहली बार कर रही है. इससे पहले प्रधानमंत्री ने अभी तक पार्टी के किसी भी मोर्चा के लिए अलग से कोई रैली नहीं की है.बीजेपी के आनुषांगिक संगठन के लिए खास रैली की शुरुआत हिमाचल प्रदेश से हो रही है. हिमाचल में इस साल के अंत में विधानसभा के चुनाव होने हैं. बीजेपी वहां की सत्ता बचाने के लिए जोर लगा रही है. उसे कांग्रेस और आम आदमी पार्टी से चुनौती मिल रही है.

Leave a Reply