उत्तरकाशी में चट्टानें दरकने से केदारनाथ यात्रा पर गए सैकड़ों यात्री फंसे, प्रशासन से लगाई मदद की गुहार

0
78

उदयपुर: प्रदेश के अलग-अलग इलाकों से केदारनाथ यात्रा पर गए सैकड़ों यात्री रास्ते (Hundreds of pilgrims went on Kedarnath Yatra) में फंस गए हैं. गंगोत्री से उत्तरकाशी के बीच चट्टान दरकने के कारण (Landslide between Gangotri to Uttarkashi) रास्ते को एहतियान बंद कर दिया है, जिसके कारण यात्री बुरी तरह से फंस गए हैं.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक फंसे यात्रियों में उदयपुर से करीब 120 लोग शामिल हैं तो वहीं, भीलवाड़ा, अजमेर समेत सूबे के अन्य जनपदों के सैकड़ों यात्री भी रास्ते में फंसे हुए हैं. जिनका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. फंसे यात्रियों की मानें तो वो पिछले 36 घंटे से लगातार सोशल मीडिया के जरिए मदद की गुहार लगा रहे हैं, लेकिन फिलहाल तक किसी ने उनकी सुध नहीं ली है.

आलम यह है कि यात्रियों के पास पीने को पानी तक नहीं है और ना ही प्रशासन की ओर से भोजन की कोई व्यवस्था की गई है. ऐसे में समय बीतने के साथ ही उनकी समस्याएं लगातार बढ़ते जा रही है. वहीं, कुछ यात्रियों ने बताया कि केदारनाथ जाने के लिए उन्होंने हेलीकॉप्टर की बुकिंग कराई है, लेकिन समय पर न पहुंचने की सूरत में बुकिंग निरस्त हो जाएगी. ऐसे में प्रशासन से अनुरोध है कि इस बुकिंग को आगे बढ़ा दिया जाए.

अजमेर से केदारनाथ यात्रा पर गई एक महिला ने बताया कि वो पिछले 28 घंटे से फंसी हुई है और अगर समय पर उन्हें मदद नहीं पहुंची तो उनकी तबीयत भी बिगड़ सकती है, क्योंकि वो शुगर और ब्लड प्रेशर की मरीज हैं.

वहीं, बीते 17 सितंबर को उदयपुर से तीन अलग-अलग ग्रुप में करीब 120 लोगों का जत्था केदारनाथ को निकला था. ये लोग हरिद्वार से अलग-अलग किराए की गाड़ियों से गंगोत्री और यमुनोत्री के दर्शन के लिए निकल गए. लेकिन उत्तरकाशी जाते समय 50 किलोमीटर पहले ही गगनानी स्टेशन के पास चट्टाने दरकने से रास्ते को बंद कर दिया गया है. ऐसे में फंसे यात्रियों ने होटलों में शरण लेने की कोशिश की, पर होटल फुल होने के कारण यात्रियों को वहां भी जगह नहीं मिल पाई.

Leave a Reply