मुफ्त बिजली ने पंजाब में बांटे परिवार, जीरो बिल के लिए एक ही घर में लगे तीन-तीन मीटर

0
3

पंजाब में 600 यूनिट मुफ्त बिजली के लिए परिवारों के बीच ‘बंटवारा’ हो गया है। जीरो बिल के लिए एक ही घर में तीन-तीन मीटर लग गए हैं। महज सात माह में पंजाब में नए बिजली मीटर लगवाने के लिए 2.95 लाख रिकार्ड आवेदन आ चुके हैं।

हालत यह है कि पावरकॉम के दफ्तरों में बिजली मीटर के आवेदकों की भीड़ जुट रही है। नए मीटर के लिए पुत्र ने पिता से तो बहू ने सास से अलग होने की दलील दी है, ताकि किसी भी तरीके से नया मीटर लग सके और बिजली मुफ्त हो जाए।

दरअसल पंजाब सरकार 600 यूनिट मुफ्त बिजली दे रही है। जिन उपभोक्ताओं के बिल 600 यूनिट से ऊपर आ रहे थे, उन लोगों ने इसका तोड़ निकालते हुए घर का लोड कम करवा रहे हैं। इसके लिए एक घर में दो या तीन मीटर लगवाए जा रहे हैं, ताकि मुफ्त बिजली का लाभ लिया जा सके। हालांकि पावरकॉम में ऐसा कोई नियम नहीं हैं, जिनके तहत एक ही घर में दो कनेक्शन नहीं दिए जा सकते हों।

34 फीसदी बढ़े नए मीटर कनेक्शन
पंजाब में 1 जनवरी से सितंबर 2022 तक नए कनेक्शन लेने वालों की संख्या 2.95 लाख हो गई है, जबकि पिछले साल इन्हीं महीनों में यह संख्या 2.20 लाख थी। इन महीनों में नए कनेक्शनों की संख्या में 75000 की बढ़ोतरी हुई है। यह बढ़ोतरी करीब 34 फीसदी है। एक जुलाई से मुफ्त बिजली योजना लागू हुई है। जुलाई में ही 38064 लोगों ने नए कनेक्शन के लिए आवेदन किया, जबकि पिछले साल जुलाई में यह संख्या 27778 थी। सितंबर 2022 में 34 हजार लोगों ने नए मीटर लेने के लिए संपर्क किया है, जबकि सितंबर 2021 में यह आंकड़ा 24000 था। सितंबर में 10 हजार से अधिक आवेदन आ चुके हैं। पश्चिमी जोन के चार सर्किल में नए कनेक्शन लेने वालों की संख्या में 65 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है, जबकि सीमावर्ती जोन के सर्किलों में 39 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। सबसे कम 17 फीसदी नए आवेदन उत्तरी क्षेत्र में आए हैं।

क्या कहता है नियम
पावरकॉम के अधिकारियों का कहना है कि नियम कहता है कि अगर एक ही घर में दूसरा किचन है तो उपभोक्ता नया कनेक्शन ले सकता है। हैरानी की बात यह है कि जीरो बिल के चक्कर में लोग अब खेतों में भी नए कनेक्शन के लिए आवेदन कर रहे हैं।

अधिकारियों से ले रहे हैं जानकारी
वहीं ऊर्जा विभाग के प्रिंसिपल सेक्रेटरी तेजवीर सिंह का कहना है कि सरकार की ओर से दी गई छूट का आम लोगों को लाभ मिल रहा है। जहां तक एक घर में एक से अधिक कनेक्शन का सवाल है, इस पर फील्ड अधिकारियों से जानकारी ले रहे हैं।

अतिरिक्त कनेक्शन देने से बिजली संकट बढ़ा
पंजाब में बिजली के अतिरिक्त कनेक्शन देने से जहां राज्य में बिजली का संकट गहराया गया है, वहीं आप सरकार पर बिजली पर दी जाने वाली सब्सिडी का बोझ भी बढ़ गया है। एक अनुमान के अनुसार आने वाले दिनों में बिजली की खपत दोगुना होने जा रही है। ऐसे में निर्बाध विद्युत आपूर्ति के दावों पर तो सवाल उठ ही रहे हैं, सरकार पर भी वित्तीय मार पड़नी तय है। पंजाब के ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली के कट बढ़ गए हैं। शहरों में एक दिन में तीन से चार घंटे के कट लग रहे हैं।

76 फीसदी घरेलू उपभोक्ताओं को मिले जीरो बिल
आंकड़े बताते हैं कि सर्दी के मौसम के बाद पावरकॉम ने 76 प्रतिशत घरेलू उपभोक्ताओं को जीरो बिल भेजा है। ठंड के मौसम के कारण पंजाब में बिजली की खपत कम हो गई है, जिससे उपभोक्ता अब 600 यूनिट की छूट के दायरे में आ रहे हैं। एक अनुमान के मुताबिक सरकार का कुल दैनिक बिजली सब्सिडी बिल 50 करोड़ रुपये है। खास यह है कि अकेले फिरोजपुर जिले में नए कनेक्शन लेने के इच्छुक लोगों की संख्या में 101 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इस सर्किल में अब तक 13583 लोगों ने नए मीटर के लिए आवेदन किया है। इस मामले में दूसरे नंबर पर बादलों का पैतृक जिला मुक्तसर है, जहां नए कनेक्शन लेने के इच्छुक लोगों की संख्या में 73 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

समाचार पर आपकी राय: