DYFI का ऐलान: केरल में दिखाई जाएगी BBC की ‘बैन’ डॉक्यूमेंट्री

0

केरल की सत्तारूढ़ भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) की छात्र इकाई डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया (डीवाईएफआई) ने बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री इंडिया: द मोदी क्वेश्चन को दिखाने का ऐलान किया है.डीवाईएफआई ने अपने फेसबुक पेज पर यह घोषणा की. उसने डॉक्यूमेंट्री के कई यूट्यूब वीडियो और उसके लिंक साझा करने वाले ट्विटर पोस्ट को ब्लॉक करने के केंद्र के निर्देशों के बाद यह घोषणा की है.

सरकार ने शुक्रवार को सोशल मीडिया मंच ट्विटर और यूट्यूब को इंडिया: द मोदी क्वेश्चन नामक डॉक्यूमेंट्री के लिंक ब्लॉक करने का निर्देश दिया है. विदेश मंत्रालय ने डॉक्यूमेंट्री को दुष्प्रचार का हिस्सा बताते हुए खारिज कर दिया और कहा कि इसमें निष्पक्षता का अभाव है और यह एक औपनिवेशिक मानसिकता को दर्शाता है.

बैन करने को लेकर विपक्ष के निशाने पर सरकार

बीबीसी की यह डॉक्यूमेंट्री दो भाग में है, जिसमें दावा किया गया है कि यह 2002 के गुजरात दंगों से संबंधित कुछ पहलुओं की पड़ताल पर आधारित है. 2002 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी राज्य के मुख्यमंत्री थे. कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस जैसे विपक्षी दलों ने डॉक्यूमेंट्री के कई यूट्यूब वीडियो और उसके लिंक साझा करने वाले ट्विटर पोस्ट को ब्लॉक करने के सरकार के कदम की कड़ी आलोचना की है.

सूचना प्रौद्योगिकी नियम, 2021 के तहत आपातकालीन शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए सूचना और प्रसारण मंत्रालय में सचिव अपूर्वा चंद्रा ने डॉक्यूमेंट्री तक पहुंचने के सभी लिंक ब्लॉक करने का गत शुक्रवार को निर्देश जारी किया था.

पूर्व न्यायाधीशों-नौकरशाहों ने की डॉक्यूमेंट्री की निंदा

इस बीच डॉक्यूमेंट्री श्रृंखला की शनिवार को 302 पूर्व न्यायाधीशों, पूर्व नौकरशाहों और पूर्व सैन्य अधिकारियों के समूह ने निंदा की और कहा कि यह ”हमारे नेता, साथी भारतीय एवं एक देशभक्त” के खिलाफ पक्षपातपूर्ण आरोप पत्र है, जिसमें नकारात्मकता और पूर्वाग्रह भरा है.

Previous articleकितनी ही सकती है इंसान की उमर, हैरान कर देगी एक्सपर्ट्स की राय
Next articleBudget Session 2023: 31 जनवरी से शुरू होगा बजट सत्र, 1 फरवरी को पेश होगा आम बजट

समाचार पर आपकी राय: