‘डबल इंजन सरकार’ वाक्य देश की संघीय ढांचे की भावना के खिलाफ; विक्रमादित्य सिंह

0
5

शिमला। हिमाचल प्रदेश की शिमला ग्रामीण सीट से कांग्रेस के विधायक विक्रमादित्य सिंह ने शुक्रवार को कहा कि भाजपा जिस ‘डबल इंजन सरकार’ वाक्य का अक्‍सर इस्तेमाल करती है, वह देश के संघीय ढांचे की भावना के खिलाफ है। सिंह ने कहा कि उन्हें हाल में संपन्न हुए चुनाव के परिणाम आने पर राज्य में पूर्ण बहुमत से कांग्रेस की सरकार बनने की उम्मीद है।

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार का किसी राज्य को सहायता प्रदान करना अनिवार्य होता है और हिमाचल प्रदेश को केंद्र की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकारों में भी अच्छे पैकेज मिले हैं।

भारतीय जनता पार्टी ने विभिन्न विधानसभा चुनावों के दौरान ‘डबल इंजन सरकार’ नारे का इस्तेमाल किया है, जिसके जरिए वह जनता को यह बताने की कोशिश करती है कि राज्य और केंद्र में भाजपा की सरकार बनना कामकाज और नीतियां बनाने के लिहाज से अच्छा है।

सिंह ने कहा कि उन्हें हाल में संपन्न हुए चुनाव के परिणाम आने पर राज्य में पूर्ण बहुमत से कांग्रेस की सरकार बनने की उम्मीद है। सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री पद के लिए कई दावेदार हैं, लेकिन विधायक और पार्टी आलाकमान ही इस पद पर बैठने वाले व्यक्ति का चयन करेगा।

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष और मंडी से लोकसभा सांसद प्रतिभा सिंह को मुख्यमंत्री बनाए जाने की संभावना के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, राजनीति में सबकुछ संभव है। उन्होंने कहा, हम और सभी कांग्रेसी हाईकमान के निर्णय का पालन करेंगे। हिमाचल प्रदेश की 68 सदस्‍यीय विधानसभा के लिए 12 नवंबर को मतदान हुआ था। मतगणना 8 दिसंबर को होगी।

समाचार पर आपकी राय: