सिरमौर में 260 करोड़ की लागत से बन रहे मेडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य रुका

0
6

नाहन (सिरमौर)। जिला मुख्यालय नाहन स्थित मेडिकल कॉलेज भवन का निर्माण कार्य ठप हो गया है। निर्धारित अवधि से एक वर्ष बाद भी भवन निर्माण कार्य का मात्र 20 प्रतिशत ही पूरा हो पाया है। ऐसे में आधुनिक सुविधाओं से भरी इमारत अभी भी एक सपना ही है। प्रशासनिक ब्लॉक का काम पूरा नहीं हो पाया है, जबकि मेडिकल ब्लॉक का काम अभी शुरू नहीं हुआ है.

केंद्रीय लोक निर्माण विभाग कार्य की कार्यकारी एजेंसी है और भवन निर्माण के लिए टेंडर शाहपुर जी पालोन जी कंस्ट्रक्शन कंपनी को दिया गया है। कंपनी ने अब भवन का निर्माण कार्य बंद कर दिया है। कंपनी अधिकारियों का कहना है कि एजेंसी की ओर से फंडिंग न होने से कंपनी घाटे में चल रही है। वहीं, जब टेंडर दिया गया तो कंपनी को जमीन क्लीयर करके देने की बात कही गई थी। कंपनी ने जब काम शुरू किया तो प्रशासनिक ब्लॉक की जमीन भी पूरी तरह से साफ नहीं थी। इसके अलावा मेडिकल ब्लॉक की जमीन अभी भी तैयार नहीं की गई है।

260 करोड़ के बजट से तैयार होने वाले इस भवन का 250 करोड़ का टेंडर कंपनी को जून 2019 में दिया गया था। जून 2021 में यह कार्य पूरा होना था। दिसंबर 2021 में फोरेस्ट क्लीयरेंस मिल पाई। अब तक प्रशासनिक ब्लॉक का केवल 70 फीसदी निर्माण कार्य ही हो पाया है। विभाग व एजेंसी की जमीन क्लीरेंस में लेटलतीफी से भवन तैयार होने में काफी वक्त लग सकता है। अब निर्माण कार्य कब शुरू होगा, ये बड़ा सवाल बना हुआ है। सूत्रों की मानें तो ये कार्य किसी अन्य कंपनी को भी दिया सकता है।

कंपनी के डीजीएम सतेंद्र पाल सिंह ने बताया कि कार्यकारी एजेंसी की ओर से फंडिंग न होने और कंपनी के घाटे में चलने से कार्य बंद किया गया है। उन्होंने बताया कि कंपनी को अभी तक जारी की गई राशि खर्च हो चुकी है। एजेंसी व विभाग की ओर से जमीन क्लीयर न होने के चलते निर्माण कार्य में दिक्कतें आई हैं। फिर भी एक ब्लॉक का निर्माण कार्य काफी हद तक पूरा हो चुका है। जबकि मेडिकल ब्लॉक की जमीन को अभी तक खाली करके नहीं दिया है।

केंद्रीय लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता आशीष देवन ने बताया कि कंपनी की ओर से कार्य बंद करने पर नोटिस देकर दो सप्ताह में स्थिति स्पष्ट करने के लिए कहा गया है। उन्होंने बताया कि कंपनी ने जितना कार्य पूरा किया है उसकी एवज में 15 करोड़ के करीब पेमेंट दी गई है। नोटिस के जवाब के बाद आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

समाचार पर आपकी राय: