कांग्रेस डाक मत ना मिलने पर करेगी कोर्ट का रुख, निर्वाचन अधिकारी से कर चुकी है शिकायत

0

शिमला। हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कर्मचारियों को डाक मत पत्र न मिलने की शिकायत केंद्रीय चुनाव आयोग से करेगी। कांग्रेस तीन दिन पहले हिमाचल में मुख्य निर्वाचन अधिकारी से शिकायत कर चुकी है।

अब राज्य निर्वाचन विभाग को दोबारा शिकायत (रिमाइंडर) भेजा है। इसमें कहा गया है कि यह गलती किसकी तरफ से हुई है, गलती करने वालों पर क्या कार्रवाई की गई है। वोट देने से वंचित रहे कर्मचारियों को क्या बैलेट पेपर मुहैया करवाए जाएंगे। कांग्रेस ने चेतावनी दी है कि यदि उनकी सुनवाई नहीं होती तो कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे। पार्टी ने इसको लेकर प्रदेशभर से तथ्य जुटाए हैं।

कर्मचारियों के लोकतांत्रिक अधिकार छीनने वाला मामला

कांग्रेस विधि विभाग के अध्यक्ष अधिवक्ता आइएन मेहता ने कहा यह मामला न केवल गंभीर है, बल्कि कर्मचारियों को उनके लोकतांत्रिक अधिकारों को छीनने वाला है। कर्मचारी खुलकर शिकायत इसलिए नहीं कर पा रहे हैं, क्योंकि उन्हें कार्रवाई का डर सता रहा है।

आवेदन की तिथि को ध्‍यान में रखते हुए दिया जाए वोट का अधिकार

बिलासपुर के घुमारवीं से कांग्रेस प्रत्याशी राजेश धर्माणी ने 18 कर्मचारियों की सूची जिला निर्वाचन अधिकारी को सौंपी थी, जिसमें कहा गया है कि दूसरे चुनाव क्षेत्र में ड्यूटी देने वाले कर्मचारियों ने समय पर पोस्टल बैलेट के लिए आवेदन किया था, लेकिन डाक विभाग की देरी के कारण आवेदन समय पर रिटर्निंग आफिसर (आरओ) कार्यालय नहीं पहुंच पाए। इससे आरओ स्तर पर कर्मचारियों को पोस्टल बैलेट नहीं दिए गए और कई लोग वोट नहीं दे पाए। कांग्रेस चुनाव आयोग से मांग कर रही है कि जिन कर्मचारियों ने समय पर आवेदन कर रखा है, उनके आवेदन की तिथि को देखकर वोट देने का अधिकार दिया जाए।

Previous articleपति ने शादी के दूसरे दिन से अप्राकृतिक संबंध बना कर पत्नी को किया प्रताड़ित, करता था मारपीट, पुलिस ने दर्ज किया मामला
Next articleकॉलेज में शिक्षिका को I Love You बोल कर परेशान करने वाले एक छात्र की मां गिरफ्तार, परिजन दे रहे धमकी

समाचार पर आपकी राय: