कांग्रेस विधायकों को डरा धमका रहे है मुख्यमंत्री; मुकेश अग्निहोत्री, भाजपा कुछ भी कर ले जनता पलट देगी सत्ता

0
123

ऊना। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर कांग्रेस के विधायकों को डराने, धमकाने व जांच एजेंसियों की धमकी दे रहे हैं। इसका खुलासा खुद विधायक अनिरुद्ध सिंह ने किया है। यह बात नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्रिहोत्री ने शुक्रवार को होटल सुविधा पैलेस ऊना में पत्रकार वार्ता के दौरान कही। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को इस पर स्पष्टीकरण देना चाहिए।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनावों को देखते हुए जल्द आचार संहिता लगने वाली है, लेकिन भाजपा सरकारी होर्डिंग्स लगा रही है। उन्होंने कहा कि सरकारी धन का खूब दुरुपयोग किया जा रहा है। चुनाव आयोग को इसका संज्ञान लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि चुनाव आचार संहिता लगते ही तीन वर्ष से डटे अधिकारियों का तबादला किया जाए।

उन्होंने कहा कि सबसे पहले सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के निदेशक का तबादला किया जाए। मुुकेश अग्रिहोत्री ने कहा कि प्रदेश में अब तक जितने भी मुख्यमंत्री रहे हंै, उनमें चुनाव प्रचार पर सबसे ज्यादा पैसा जयराम ठाकुर बहा रहे हंै। उन्होंने कहा कि भाजपा चाहे जितने भी हथकंडे अपना ले, लेकिन सब एकजुट हैं और एकजुटता के साथ आगामी चुनाव लड़ा जाएगा। मुकेश अग्रिहोत्री ने कहा कि भाजपा हर मोर्चे पर फेल हुई है, जनता ने अब भाजपा की विदाई तय कर दी है। आगामी चुनावों में भाजपा की बुरी तरह से हार होगी।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को हेलिकॉप्टर का शौक है। उन्होंने कहा कि हिमाचल की जनता ने महंगाई-बेरोजगारी और भ्रष्टाचार से तंग आकर भाजपा को उप चुनाव में सबक सिखाने का जनादेश दिया लेकिन इसके बाद भी भाजपा का घमंड टूट नहीं रहा।

एक-एक वादा करेंगे पूरा

मुकेश अग्रिहोत्री ने कहा कि कांगेस को प्रदेश की जनता का भरपूर प्यार मिल रहा है। कांग्रेस पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में आएगी। सत्ता में आते ही जनता से किया गया एक-एक वायदा पूरा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हम भाजपा को बताएंगे कि सरकार कैसे चलती है। उन्होंने कहा कि 300 यूनिट बिजलीं फ्री दी जाएगी। महिलाओं के खाते में 15-15 सौ रुपए डाले जाएंगे। ओपीएस भी बहाल की जाएगी।

वीरभद्र को सदैव याद किया जाएगा

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में वीरभद्र सिंह आधुनिक हिमाचल के निर्माता के रूप में सदैव याद किए जाएंगे, जबकि हिमाचल निर्माता यशवंत परमार है। उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत कारणों से कोई भी पार्टी छोड़े, यह उसका निर्णय है, लेकिन सभी को अपनी भाषा पर संयम रखना चाहिए। जिस व्यक्ति ने हिमाचल प्रदेश को आगे बढ़ाने के लिए काम किया, जिस व्यक्ति को हिमाचल प्रदेश की जनता ने अपने दिलों में स्थान दिया, उस व्यक्ति के लिए अगर कोई हल्के शब्दों का प्रयोग करता है तो यह उसकी मानसिकता को दर्शाता है।

समाचार पर आपकी राय: