भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ता प्रवीण नेट्टारू हत्याकांड की जांच जल्द ही NIA को सौंपी जाएगी: कर्नाटक सीएम

0
73

बेंगलुरु (कर्नाटक): 26 जुलाई को दक्षिण कन्नड़ के बेल्लारे में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) युवा मोर्चा के कार्यकर्ता प्रवीण नेट्टारू की बाइक पर अज्ञात लोगों ने घातक हथियारों से हमला कर उनकी हत्या कर दी थी। इस मामले में कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने सोमवार को कहा कि जल्द ही ये मामला राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) को सौंप दिया जाएगा।

प्रवीन नेट्टारू हत्याकांड की जांच में पुलिस को दी गई खुली छूट

मुख्यमंत्री बोम्मई ने आज मीडियाकर्मियों से कहा, प्रवीन नेट्टारू हत्याकांड की जांच में पुलिस को खुली छूट दे दी गई है। मामले की जांच जारी है। हत्यारों को बहुत जल्द पकड़ लिया जाएगा।

बोम्मई ने कहा, एनआईए को इस मामले को लेकर पहले ही अनौपचारिक रूप से सूचित कर दिया गया है। वे मंगलुरु और केरल में प्रारंभिक सूचना एकत्र करने में लगे हुए हैं। एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी जल्द ही बेल्लारे गांव और सुरथकल में मसूद और फाजिल के परिवारों से मिलने की योजना है।  

सीएम ने कहा कि जांच एनआइए को सौंपने की प्रक्रिया जारी है। उन्होंने कहा, तकनीकी और कागजी कार्रवाई प्रक्रिया में है। मामला जल्द ही एनआईए को सौंप दिया जाएगा।

बता दें कि  26 जुलाई को दक्षिण कन्नड़ के बेल्लारे में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) युवा मोर्चा के कार्यकर्ता प्रवीण नेट्टारू की बाइक पर अज्ञात लोगों ने घातक हथियारों से हमला कर उनकी हत्या कर दी थी।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने भाजपा नेता के परिवार के सदस्यों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की थी और उन्हें आश्वासन दिया था कि जल्द ही उन्हें न्याय दिया जाएगा।

मामले को लेकर बोम्मई ने ट्वीट किया था कि दक्षिण कन्नड़ जिले से हमारी पार्टी के कार्यकर्ता प्रवीण नेट्टारू की बर्बर हत्या निंदनीय है। इस तरह के जघन्य कृत्य के अपराधियों को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा और कानून के तहत दंडित किया जाएगा। प्रवीण की आत्मा को शांति मिले। भगवान उनके परिवार को इस दुख को सहने की शक्ति प्रदान करें, ओम शांति।

18 साल के मसूद की ह्त्या 19 जुलाई को

बेल्लारे गांव के पास रहने वाले 18 वर्षीय मसूद की 19 जुलाई को हत्या कर दी गई थी। कुछ दिनों बाद, उसी तालुक में, कुछ बाइक सवारों ने भाजपा युवा मोर्चा के सदस्य प्रवीण नेट्टारू पर हमला किया था। अगले दिन 28 जुलाई को सुरथकल में मोहम्मद फाजिल नाम के शख्स की हत्या कर दी गई थी।

समाचार पर आपकी राय: