आप के आरोपों को भाजपा ने बताया स्वांग, कार्यकर्ता राजघाट पर करेंगे गंगाजल का छिड़काव

0
62

दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (आप) द्वारा उसके विधायकों को तोड़े जाने और पाला बदलने के लिए धन की पेशकश के आरोपों को ”अनर्गल” बताया और कहा कि आबकारी नीति में हुए कथित भ्रष्टाचार के मुद्दे को भटकाने के लिए वह नित नए ”स्वांग” रच रही है।

भाजपा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आप के विधायकों के महात्मा गांधी की समाधि राजघाट जाने और वहां प्रार्थना करने पर भी निशाना साधा और कहा कि उसके कार्यकर्ता राजघाट जाकर वहां गंगाजल का छिड़काव करेंगे।

भाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने पार्टी मुख्यालय में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार की आबकारी नीति में हुए भ्रष्टाचार को लेकर पार्टी उनसे सीधे और स्पष्ट सवाल पूछ रही है लेकिन वह मुद्दे को भटकाने के लिए ”ड्रामा” कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, ”वह जवाब देने की स्थिति में नहीं हैं इसलिए नित नए स्वांग रच रहे हैं। वह हर दिन एक नया रूप बदलकर विषय को भटकाने की कोशिश कर रहे हैं। आप सत्य के सबसे बड़े प्रतीक की समाधि (राजघाट) पर जाकर सच को ढंकने का प्रयास करेंगे तो यह संभव नहीं है। आप का चरित्र उजागर हो रहा है।”

ज्ञात हो कि आप ने आज अपने विधायक दल की बैठक बुलाई थी। बैठक शुरु होने के बाद पार्टी की ओर से दावा किया गया कि उसके कुछ विधायकों से संपर्क नहीं हो पा रहा है। बाद में पार्टी ने आरोप लगाया कि दिल्ली के उसके 40 विधायकों को भाजपा ने निशाना बनाया है और उन्हें पाला बदलने के लिए 20-20 करोड़ रुपये की पेशकश की गई है।

बाद में ‘आप’ के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि मुख्यमंत्री और पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल के घर पर बुलाई गई बैठक में 53 विधायकों ने शिरकत की जिनमें केजरीवाल भी शामिल हैं। वहीं सात विधायक दिल्ली से बाहर हैं जबकि मंत्री सत्येंद्र जैन जेल में हैं।

बैठक के बाद भाजपा के ‘ऑपरेशन कमल’ की विफलता की प्रार्थना के लिए केजरीवाल के नेतृत्व में ‘आप’ विधायक महात्मा गांधी की समाधि राजघाट पहुंचे और वहां प्रार्थना की।

त्रिवेदी ने कहा, ”अनर्गल आरोप लगाना इनकी नैसर्गिक प्रवृत्ति हो गई है।”

केजरीवाल पर निशाना साधते हुए त्रिवेदी ने कहा कि उन्होंने नितिन गड़करी और अरुण जेटली सहित कई अन्य नेताओं पर भी आरोप लगाए थे और बाद में उच्चतम न्यायालय में माफी मांग ली थी।

भाजपा प्रवक्ता ने कहा, ”इनकी प्रामाणिकता और सत्यनिष्ठा पूर्णत: संदिग्ध हो गई है।”

दिल्ली से भाजपा के सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा ने दावा किया कि आबकारी नीति में हुए भ्रष्टाचार के मुद्दे को भटकाने के लिए आप की ओर से लगातार नए प्रयास किए जा रहे हैं।

अपने कुछ विधायकों से संपर्क ना हो पाने के आप के दावे पर वर्मा ने कहा कि आप के नेताओं को उन विधायकों के नाम बताने चाहिए जिनसे वह संपर्क नहीं कर पा रहे हैं।

उन्होंने कहा, ”आप हमें उनके नाम बताइए। हम उन्हें सुरक्षित आपके पास या विधानसभा में पहुंचा देंगे।”

आप विधायकों को तोड़े जाने के आरोपों का जवाब देते हुए वर्मा ने कहा कि 2013 में भाजपा को जब दिल्ली में 32 सीटें मिली थीं और आप को 28 सीटें प्राप्त हुई थीं, उस समय अगर यह आरोप लगाया गया होता तो जनता मान भी लेती।

उन्होंने कहा, ”लेकिन आज जब हमारे केवल आठ विधायक हैं और उनके 62 विधायक हैं…अगर 50 विधायक भी आ जाएंगे तो भी हमारी सरकार नहीं बनेगी। ऐसे में विधायकों को खरीदे जाने के आरोपों में कोई दम ही नहीं है।”

भाजपा नेता ने आरोप लगाया कि शराब नीति में भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरी दिल्ली की सत्ताधारी पार्टी ने आज राजघाट जैसे पवित्र स्थान को भी गंदा कर दिया।

उन्होंने कहा, ”हमारे कार्यकर्ता वहां जाएंगे और गंगाजल का छिड़काव करेंगे।”

Leave a Reply