रूस को आतंकी देश घोषित करते ही हैकरों ने यूरोपियन संसद पर कर दिया साइबर अटैक

0
8

यूरोपियन संसद पर साइबर हमला हुआ है. रूस के क्रेमलिन समर्थक एक ग्रुप ने इसकी जिम्मेदारी ली है. यूरोपियन संसद के प्रेसीडेंट रॉबर्ट मैकसोला ने इस घटना की जानकारी दी है. रूस प्रायोजित आतंकवाद के समर्थन पर वोटिंग के बाद यह साइबर हमला किया गया था.

बता दें कि स्ट्रासबर्ग में यूरोपीयन संसद ने रूस को ‘आतंकवाद का प्रायोजक राज्य‘ (State Sponsor of Terrorism) घोषित किया जिसके बाद रूस के साइबर हैकरों ने इस घटना को अंजाम दे दिया. इस वोटिंग में कुल 494 सदस्य सदस्यों ने इस फैसले के पक्ष में मतदान किया, जबकि विपक्ष में पड़े वोटों की संख्या 58 रही. फैसले के पीछे यूरोपियन संघ ने कहा कि रूस के सैनिक कार्रवाइयों ने पॉवर और एनर्जी, अस्पतालों स्कूलों तथा आश्रयों जैसे नागरिक सुविधाओं को भारी नुकसान पहुंचाया है और यह अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन है.

समाचार पर आपकी राय: