बीड़ बिलिंग में पैरा ग्लाइडर के दुर्घटनाग्रस्त होने से सेना के पायलट की मौत, मिजोरम का रहने वाला था जवान

0
46

पैराग्लाइडिंग के लिए विश्वविख्यात घाटी बीड़ बिलिंग में बुधवार को अभ्यास के दौरान सेना के एक पायलट की मौत हो गई। 28 वर्षीय सैनिक जोरिन मबिया चवगतू मिजोरम का रहने वाला था।

जानकारी के मुताबिक दुर्घटना के दौरान पैराग्लाइडर पायलट को सिर में गंभीर चोटें आई थीं, जिसके बाद उसे तिब्बतयन स्वास्थ्य केंद्र चौगान ले जाया गया, यहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे मिलिट्री अस्पताल पालमपुर ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। सूत्रों की मानें तो उक्त पायलट का ग्लाइडर लैंडिंग साइट के समीप खेतों में गिर गया था। बैजनाथ थाना प्रभारी ने बताया कि पुलिस ने आईपीसी की धारा 174 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। उन्होंने बताया कि शव का पालमपुर सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाया जाएगा।

घाटी में क्राॅस कंट्री प्रतियोगिता के लिए करवाया जा रहा अभ्यास
बता दें कि इन दिनों सेना के कई पायलट बीड़ बिलिंग घाटी में इस माह होने वाली‌ क्राॅस कंट्री प्रतियोगिता के लिए अभ्यास कर रहे हैं। इसके अलावा स्थानीय पायलट भी उड़ान भर रहे हैं। विदित रहे कि बीड़ बिलिंग में अर्से बाद किसी प्रतियोगिता का आयोजन हो रहा है। इसके लिए सेना द्वारा पायलटों के लिए रोजाना अभ्यास शिविर लगाया जा रहा है ताकि प्रतियोगिता से पूर्व सेना के जवान बीड़ बिलिंग में उड़ानों को लेकर जानकारी हासिल कर सकें। सेना सूत्रों के मुताबिक इस माह 24 अक्तूबर से 27 अक्तूबर तक बिलिंग घाटी में सेना द्वारा इंटरसर्विस पैराग्लाइडिंग क्राॅस कंट्री प्रतियोगिता का आयोजन करवाया जा रहा है, जिसमें सेना के पैराग्लाइडर पायलट अपनी कुशलता का परिचय देंगे।

समाचार पर आपकी राय: