CU MMS Scandal में सामने आई चौथे आरोपी की भूमिका, WhatsApp चैट से हुआ खुलासा

0
67

पंजाब पुलिस की एसआईटी ने मंगलवार को मोहाली की चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हॉस्टल में लड़कियों के वीडियो लीक मामले में तीनों आरोपियों से पूछताछ की. पुलिस को तीनों आरोपियों यानी MBA की छात्रा, उसका बॉयफ्रेंड सनी मेहता और उसका दोस्त रंकज वर्मा से शुरुआती पूछताछ में कई तथ्य हाथ लगे हैं.

पुलिस को MBA स्टूडेंट के एक आरोपी से व्हाट्सऐप पर चैट के कुछ स्क्रीनशॉट भी हाथ लगे हैं, इनसे ऐसा संकेत मिलता है कि उसे वीडियो बनाने के लिए ब्लैकमेल किया जा रहा था. इतना ही नहीं पूछताछ के दौरान एक और यानी चौथे आरोपी की भूमिका भी सामने आई है.

चौथे शख्स ने ही फोटो-वीडियो डिलीट करने को कहा

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, छात्रा के मोबाइल से एक दर्जन से ज्यादा वीडियो रिकवर कर लिए हैं लेकिन वह सभी वीडियो उसके अपने हैं. पुलिस को व्हाट्सऐप चैट से पता चला है कि छात्रा एक और फोन नंबर पर किसी मोहित से बात कर रही थी. वह उसे फोटो और वीडियो डिलीट करने के लिए कह रहा था. आरोपी छात्रा बता रही थी कि उसने उसे मरवा दिया था, क्योंकि एक छात्रा ने उसे एक नहाती हुई छात्रा की फोटो लेते हुए देख लिया था.

चौथे आरोपी को पूछताछ के लिए बुला सकती है पुलिस

पुलिस जल्द ही चौथे किरदार से पूछताछ कर सकती है. उसे जल्द ही समन भी भेजा जा सकता है. एक पुलिस अफसर ने बताया कि वे आरोपियों के मोबाइल फोन की फॉरेसिंक रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं, जिससे पूरा मामला सामने आ सके. पुलिस स्टेट साइबर सेल की मदद से आरोपियों के मोबाइल फोन का भी डेटा रिकवर कर रही है. फॉरेसिंक जांच टीम ने हॉस्टल के उस वॉशरूम का निरीक्षण किया, जहां लड़कियों के नहाते हुए वीडियो बनाए गए थे.

पुलिस ने रविवार को इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया था. तीनों आरोपियों को 7 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया है. आरोप है कि एक MBA स्टूडेंट गर्ल्स हॉस्टल के बाथरूम से अन्य लड़कियों के वीडियो बनाती थी. फिर इन्हें अपने दो दोस्तों के साथ शेयर करती थी.

पंजाब के मोहाली में चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हॉस्टल में

एक दिन जब MBA स्टूडेंट वीडियो बना रही थी, तो उसे 6 लड़कियों ने ऐसा करते देख लिया. इसके बाद लड़कियों ने उससे पूछा कि वह वीडियो क्यों बना रही है? इसके बाद MBA की छात्रा ने दावा किया था कि उसने दबाव में वीडियो बनाए थे, लेकिन बाद में डिलीट कर दिए. बाद में उसने बताया कि उसे लड़कों ने ऐसा करने के लिए कहा था. हालांकि, शुरुआत में उसने कहा कि वह उसे लड़के को नहीं जानती. बाद में उसने सनी मेहता की फोटो दिखाई, जो शिमला में अपनी बेकरी चलाता है.

MBA स्टूडेंट को ब्लैकमेल कर रहे थे आरोपी

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, आरोपी सनी मेहता और उसका दोस्त रंकज वर्मा MBA स्टूडेंट को ब्लैकमेल कर रहे थे कि वे उसका प्राइवेट वीडियो वायरल कर देंगे. ये वीडियो खुद MBA स्टूडेंट ने सनी मेहता के कहने पर उसे भेजा था. दोनों आरोपी MBA स्टूडेंट पर दबाव डाल रहे थे कि वह अन्य लड़कियों के वीडियो बनाकर उन्हें भेजें, नहीं तो वे उसका वीडियो वायरल कर देंगे.

Leave a Reply