नालागढ़ कोर्ट फायरिंग मामले में आया नया मोड़, बंबिहा गुट ने ली जिम्मेवारी और कहा, दो लोग सनी को छुड़ाने की ड्यूटी पर थे

0
40

बरोटीवाला। Himachal Solan Nalagarh Court Comlex Firing, हिमाचल प्रदेश के जिला सोलन के नालागढ़ कोर्ट परिसर में सोमवार को जाने-माने गैंगस्टर सनी को पेश करने के दौरान फायरिंग के मामले में नया मोड़ आ गया है। सोशल मीडिया पर सोमवार रात से एक पोस्ट शेयर किया जा रहा है, जिसमें कौशल चौधरी खुद को बंबिहा गुट का सदस्य बताते हुए लिखते हैं कि नालागढ़ कोर्ट परिसर में फायरिंग बंबिहा गुट ने की थी। वह उसकी जिम्मेदारी लेता है और यह भी लिखता है कि दो लोग सनी को मारने के लिए नहीं बल्कि उसे बचाने के लिए ड्यूटी पर थे।

हवाई फायरिंग के बाद बाइक को सड़क के बीच ही छोड़ दिया गया था, ताकि पुलिस का ध्यान भटकाया जा सके। कौशल चौधरी का दावा है कि पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है और वह उनकी गिरफ्तारी नहीं दिखा रही है। अंत में उसने लिखा है, दविंदर बंबीहा ग्रुप।

इस मामले पर जिला बद्दी पुलिस अधीक्षक मोहित चावला ने बताया अभी वह इस मामले में कुछ भी नहीं कह सकते हैं, मामले की जांच पूरी हो जाने के बाद ही असल कारणों का पता चल पाएगा। घटना की सूचना मिलने के बाद वह भी मौके पर गए थे। फारेंसिक टीम को भी मौके पर बुलाया गया, जिसमें साफ हुआ कि पांच नहीं, बल्कि तीन फायर किए गए थे। मामले में तीन टीमें गठित की गई हैं, जिसे अलग-अलग जगहों पर भेजा गया है। इसके साथ ही पुलिस मामले में सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रही है।

गैंगवार के आरोप में कोर्ट में पेशी पर लाया गया था सन्नी

बता दें कि सन्नी नामक गैंगस्टर शार्प शूटर है और अगस्त 2021 में मोहाली में विक्की मिड्डुखेड़ा की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उसके बाद नालागढ़ के खेड़ा में भी करीबन एक साल पहले हुई गैंगवार में भी सन्नी का हाथ बताया जा रहा है। उसी मामले में पेशी के दौरान उसे नालागढ़ लाया गया था, जहां पर फायरिंग हुई है। नालागढ़ के कोर्ट परिसर में चली गोलियों के कारण क्षेत्र के लोगों में डर का माहौल बना हुआ है। पुलिस सूत्रों का दावा है कि इस शूटआउट के पीछे लॉरेंस बिश्नोई गैंग का हाथ है।

Leave a Reply