गुजरात में हॉस्टल में रह रही छात्राओं के नहाते हुए वीडियो बनाता था रसोइया, अभी तक दर्ज नही हुई शिकायत

0
37

अहमदाबाद। Gujarat News: चंडीगढ़ के बाद गुजरात में भी छात्राओं के नहाते समय अश्लील वीडियो बनाने का मामला सामने आया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मामले की जांच के आदेश

दक्षिण गुजरात के वलसाड जिले में धरमपुर के एक कन्या छात्रावास में रह रही छात्राओं के अश्लील फोटो खींचने व वीडियो बनाने का मामला सामने आया है। छात्रावास के रसोइए की शिकायत अभिभावकों ने पुलिस को की, इसके बाद जांच के आदेश दिए गए।

ब्लैकमेल करने का प्रयास

वलसाड जिले में धरमपुर के करचोड गांव में बने साक्षरता कन्या छात्रावास में रह रही छात्राओं के अभिभावकों को छात्राओं के अश्लील वीडियो बनाने का पता चला तो वे छात्रावास पहुंचे तथा इस मामले की जांच की मांग की। जिला पुलिस ने समग्र घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। छात्राओं ने बताया कि कन्या छात्रावास का रसोइया बाथरूम की टूटी हुई खिड़की से उनका वीडियो बनाता तथा उन्हें ब्लैकमेल करने का प्रयास करता है। छात्राओं ने रसोइया पर छेड़खानी व उत्पीड़न का भी आरोप लगाया है।

छात्रावास में पुरुष रसोइया रखने पर भी सवाल

वलसाड आदिवासी बहुल जिला है तथा इस छात्रावास में गरीब व पिछडे आदिवासी परिवारों की लड़कियां रहकर पढ़ती हैं। हाल ही चंडीगढ़ के छात्रावास में लड़कियों के अश्लील वीडियो बनाने का मामला उजागर होने के बाद यहां की छात्राओं ने भी इस घटना की जानकारी अभिभावक समूह के इंटरनेट मीडिया समूह में शेयर की। इसके बाद अभिभावकों ने इस पर हंगामा करते हुए पुलिस से इसकी जांच की मांग की। उन्होंने कहा कि लड़कियों के छात्रावास में पुरुष रसोइया रखने पर भी सवाल खड़े किए।

समाचार एजेंसी आइएएनएस के मुताबिक, बलसाड (Valsad) में एक सरकारी आवासीय विद्यालय एकलव्य कन्या साक्षरता निवास शाला की छात्राओं ने आरोप लगाया है कि रसोइए ने नहाते समय उनकी फोटो खींच लिए और वीडियो बना लिया है। इस मामले की जांच पुलिस उपाधीक्षक, स्थानीय अपराध शाखा पुलिस निरीक्षक, स्थानीय उप निरीक्षक और उप कलेक्टर कर रहे हैं।

आरोपित के खिलाफ होगी कार्रवाई

वलसाड जिले के पुलिस अधीक्षक राजदीप सिंह जाला के मुताबिक, अगर कोई इस तरह के कृत्य में लिप्त पाया जाता है, तो उसके खिलाफ कानून के तहत मामला दर्ज किया जाएगा। पुलिस के मुताबिक, इस संबंध में छात्राओं ने स्कूल के प्रधानाचार्य या पुलिस को लिखित आवेदन में वीडियो रिकार्डिंग या फोटो लेने का जिक्र नहीं किया।

मामले की होगी जांच

धर्मपुर तालुका पंचायत के स्वतंत्र प्रतिनिधि कल्पेश पटेल के आवेदन में भोजन की घटिया गुणवत्ता व लड़कियों के साथ भेदभाव किए जाने की शिकायत है। वीडियो रिकार्डिंग की मौखिक शिकायतों की जांच की जाएगी। यहां चार पुरुष रसोइए हैं। केवल एक रसोइए के पास एंड्राइड फोन है, जो अब पुलिस के कब्जे में है। मामले की जांच की जा रही है। स्कूल की प्रधानाचार्य नीता चौधरी ने बताया कि शुरुआती शिकायत भोजन की खराब गुणवत्ता के बारे में थी। उन्होंने एक महिला रसोइया की मांग की थी।

गौरतलब है कि चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में एक छात्रा द्वारा हास्टल की अन्य छात्राओं के अश्लील वीडियो बनाने के बाद मुंबई स्थित प्रतिष्ठित भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान में एक ऐसी ही घटना से हड़कंप मच गया था। आइआइटी बांबे में हास्टल की एक छात्रा ने वाशरूम की खिड़की से आपत्तिजनक वीडियो बनाने का आरोप लगाया था।आइआइटी बांबे की एक छात्रा ने पवई पुलिस से संपर्क किया और आरोप लगाया कि एक कैंटीन कर्मचारी ने हास्टल के वाशरूम में नहाने के दौरान उसका वीडियो रिकार्ड किया। पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज किया था।

Leave a Reply