हिमाचल में लड़कियां भी नशा तस्करी में शामिल, शिमला में चिट्टे और ड्रग्स सहित युवक व युवती गिरफ्तार

0
34

शिमला। नशे के खिलाफ शिमला पुलिस ने अभियान तेज कर दिया है। पुलिस ने चिट्टे और नशीली गोलियों के साथ दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इनमें एक युवक है और दूसरी युवती है।

पुलिस की टीम ने रूटीन गश्त के दौरान संजौली के समीट्री में इन्हें गिरफ्तार किया। इनके पास से पुलिस को 3.50 ग्राम चिट्टा और 6 नशीले कैप्सूल बरामद हुए। आरोपित की पहचान हर्ष निवासी गांव टीमरो, जनेढ़घाट (शिमला) के रूप में हुई है, जबकि युवती कमलानगर के साथ पड़ने वाले गाहन गांव की रहने वाली है। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ ढली थाना में एनडीपीएस अधिनियम के तहत दर्ज किया गया है। बता दें कि शिमला में लड़कियों द्वारा ड्रग्स सेवन और तस्करी के मामले लगातार सामने आ रहे हैं।

डीएसपी कमल वर्मा ने मामले की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने युवक और युवती को ड्रग्स के मामले में गिरफ्तार किया है। मामले की जांच की जा रही है कि दोनों के पास चिट्टा और नशीले कैप्सूल कहां से आए इसको लेकर पूछताछ चल रही है।

पहाड़ पर सफेद नशे का काला कारोबार

पहाड़ पर सफेद नशे का काला कारोबार खूब फल फूल रहा हे। सफेद नशा यानि चिट्टे ने जिला शिमला में युवा पीढ़ी को अपनी गिरफ्त में जकड़ लिया है। शिमला पुलिस ने नशे के खिलाफ विशेष अभियान चलाया है। पुलिस ने नशे के कई सौदागरों को जेल में पहुंचाया है। इसके बावजूद नशे के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। हैरानी की बात ये है कि नशे के कारोबार में महिलाएं भी शामिल है। शराब और भांग के अलावा महिलाएं चरस की भी सप्लाई कर रही है। चिट्टे के साथ पुलिस जिन आरोपितों को गिरफ्तार कर रही है उनमें ज्यादातर की उम्र महज 20 से 40 साल के बीच है। पुलिस ने अब हर थाने व चौकी को सख्त निर्देश दिए हैं, कि नशे के कारोबार करने वालों पर नकेल कसें।

कितनी गिरफ्तारियां किस साल

पुलिस के अनुसार इस साल जनवरी से अगस्त तमहीने तक एनडीपीएस एक्ट के तहत 241 आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इसमें सबसे ज्यादा 173 गिरफ्तारियां चिट्टे के केस में हुई है। वर्ष 2021 में कुल कुल 228 आरोपितो को एनडीपीएस एक्ट के तहत गिरफ्तार किया है। इनमें भी सबसे ज्यादा 108 गिरफ्तारियां चिट्टे के केस में है।

Leave a Reply