मानव भारती की 4600 डिग्रियों का होगा सत्यापन, गठित होगी कमेटी

0
72

मानव भारती विश्वविद्यालय की 4,600 डिग्रियों का सत्यापन किया जाएगा। प्रदेश सरकार ने इसके लिए कमेटी गठित करने के निर्देश दिए हैं। कमेटी में हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय (एचपीयू), पुलिस और शिक्षा विभाग के अफसर शामिल किए जाएंगे।

पुलिस सूत्रों के अनुसार मानव भारती विश्वविद्यालय से करीब 47,500 डिग्रियां आवंटित हुई हैं। पुलिस जांच में 43,000 डिग्रियां फर्जी पाई जा चुकी हैं। शेष को वैध माना जा रहा है लेकिन मानव भारती विश्वविद्यालय से पढ़ाई करने वाले छात्र-छात्राओं का पुलिस मुख्यालय में आना जारी है। ये लोग अपनी डिग्री की सत्यता को लेकर जानना चाह रहे हैं। पुलिस एसआईटी का कहना है कि मानव भारती विश्वविद्यालय ने विद्यार्थियों को दर्जनों ऐसे कोर्स करवा दिए हैं, जिनकी विश्वविद्यालय के पास मान्यता ही नहीं थी।

फर्जी तरीके से करवाए गए इन कोर्सों की हजारों फर्जी डिग्रियां देश भर में बेची गई हैं, जिनसे लाखों रुपये कमाए गए हैं। पुलिस इस मामले में अभी तक 90 फीसदी जांच पूरी कर चुकी है। एसआईटी अब विश्वविद्यालय के खिलाफ तीसरी व अंतिम चार्जशीट कोर्ट में पेश करेगी। इसमें विश्वविद्यालय में कार्यरत कर्मचारी, अकाउंट स्टाफ , एजेंट और सहयोगी चार्जशीट में नामजद होंगे। वहीं, इस संबंध में पुलिस के आला अफसरों से संपर्क किया गया लेकिन अभी कोई कुछ कहने को तैयार नहीं है। उल्लेखनीय है कि विश्वविद्यालय से डिग्री करने वाले युवाओं का भविष्य संकट में है। हालत यह है कि मानव भारती विश्वविद्यालय से हासिल डिग्री के चलते उनकी नौकरी पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं।

Leave a Reply