विधवा और तलाकशुदा महिलाओं के अश्लील वीडियो बनाकर करते थे ब्लैकमेल, 4 आरोपी गिरफ्तार

0

बेंगलुरु: बेंगलुरु में सोमवार को एक गिरोह के चार सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है जो विधवा और तलाकशुदा महिलाओं को आपत्तिजनक वीडियो के आधार पर ब्लैकमेल और मारपीट कर उनसे जबरन वसूली करते थे।

पुलिस के अनुसार, एक महिला सहित आरोपियों ने वित्तीय सहायता और नौकरियों में मदद करने के बहाने पीड़ितों को अपना निशाना बनाया। गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान चिक्कागोलाराहट्टी निवासी रवि, उनकी पत्नी मंगला, श्रीनिवास और शिवकुमार कुनिगल के रूप में हुई। इन सभी आरोपियों का ताल्लुक तुमकुरु जिले से है। वहीं, श्रीनिवास और शिवकुमार भाई हैं और एक गैस एजेंसी में काम करते हैं।

आरोपी पीड़ितों को नौकरी का देते थे झांसा

आरोपियों ने विधवाओं, तलाकशुदा महिलाओं और उन लोगों की भी पहचान की जो अपने साथियों से अलग रह रही थीं। मंगला उनसे संपर्क करती थी और उनका विवरण एकत्र करने के बाद उन्हें सहायता की पेशकश करती थी, उनसे सहानुभूति रखते हुए फोन पर उनसे बात करती थी और उन सभी का विश्वास जीतती थी।

अपहरण कर ले जाते थे सुनसान जगह

एक बार गिरोह की आरोपी महिला ने एक पीड़िता को नौकरी दिलाने का आश्वासन देकर एक स्थान पर बुलाया। जिसके बाद आरोपी उनका अपहरण कर उन्हें सुनसान जगह पर ले गए, जिसके बाद आरोपियों ने पीड़िता को हथियार दिखाकर कपड़े उतारने की धमकी दी। जब पीड़िता ने इसका विरोध किया तो उनके साथ मारपीट की और उनका न्यूड वीडियो बनाया।

आपत्तिजनक वीडियो वायरल करने की देते थे धमकी

बाद में आरोपियों ने उन्हें आपत्तिजनक वीडियो वायरल करने की धमकी दी और उनसे पैसे और सोना वसूल किया। पुलिस ने 1.20 लाख रुपये का सोना, 70,000 रुपये नकद, साथ ही अपराध करने के लिए इस्तेमाल की गई कार और हथियार जब्त किए हैं।

8 महिलाएं हुई शिकार

बता दें कि, जांच में यह भी पता चला है कि आरोपियों ने आठ महिलाओं को प्रताड़ित किया था। हालांकि, पीड़ितों ने डर के कारण पुलिस में कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई थी। लेकिन महालक्ष्मी लेआउट थाने के पास से अगवा की गई पीड़ितों में से एक महिला ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद पुलिस ने मामले में जांच करते हुए सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया।

पीड़िता के फोन से ट्रांसफर किए 84,000 रुपये

पीड़िता ने बताया कि आरोपी ने एक कार में उसका अपहरण किया और तवरेकेरे में एक सुनसान जगह पर ले गए और वहां जाकर उसके कपड़े उतार दिए और उसका आपत्तिजनक वीडियो बनाया। इसके साथ ही आरोपियों ने पीड़िता से 23 ग्राम सोना वसूल किया और उसके मोबाइल से 84,000 रुपये डिजिटली ट्रांसफर कर लिए। उनके पास से 40 हजार रुपये नकद भी ले लिए। पुलिस ने शिकायत दर्ज कर कार्रवाई करते हुए गिरोह को पकड़ लिया है और जांच के दौरान आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

Previous articleMalegaon Blasts: लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद पुरोहित की याचिका पर जल्द करें फैसला, सुप्रीम कोर्ट की बॉम्बे हाई कोर्ट को सलाह
Next articleRupee vs Dollar: अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 22 पैसे बढ़कर 79.02 पर बंद हुआ रुपया

समाचार पर आपकी राय: