ब्रांडेड कंपनी के रैपर लगा कर बेचता था मिलावटी शराब, जिला प्रशासन ने जब्त की 1 करोड़ 24 लाख की संपति

0
71

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार गैंगस्टर, भू-माफियाओं और शराब माफियाओं के खिलाफ सख्ती से पेश आ रही है. उनकी संपत्तियों को कुर्क कर नगर निगम का बुलडोजर चलाया जा रहा है. ऐसा ही एक मामले में सीतापुर से सामने आया. जहां शराब माफिया के 1 करोड़ 24 लाख की संपत्ति को जिला प्रशासन ने जब्त कर लिया.

जानकारी के मुतबिक आरोपी मिलावटी शराब को बनाकर बेचने का काम करता है. उस पर पहले से कई केस दर्ज है. आबकारी अधिनियम के वांछित शराब माफिया विमलेश का खैराबाद थाना क्षेत्र में स्थित 2 मंजिला आलीशान मकान को मुनादी कर पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने गैंगस्टर एक्ट 14(1) के तहत जब्त कर लिया.

बता दें, महमूदाबाद में दर्ज गैंगस्टर के केस की विवेचना के दौरान डीएम कार्यालय को साक्ष्य सहित एक रिपोर्ट दी गई. डीएम के आदेश के बाद सीतापुर-लखनऊ हाईवे पर मछरेहटा चौराहे के पास स्थित उसका एक मकान जब्त किया गया है, जो उसकी मां के नाम से दर्ज है.

प्रशासन ने 1 करोड़ 24 लाख रुपये का मकान मुनादी कर अपने कब्जे में लिया गया. अधिकारियों के मुताबिक इसके अलावा भी शराब माफिया विमलेश की संपत्तियों को जनपद में पता कर उनकी कुर्की की जाएगी.

पुलिस का कहना है कि विमलेश खैराबाद थाना क्षेत्र के जैनापुर गांव का रहने वाला है. वो नकली शराब पर कंपनी के रैपर लगाकर बेचता था. इसके अलावा पुलिस ने बताया कि आरोपी की आय का कोई ज्ञात स्रोत नहीं था. उसके पास इतनी पैतृक संपत्ति भी नहीं थी, जिसकी आमदनी से वह इतने कम समय में महंगी संपत्ति खरीद सके. जिसके बाद यह एक्शन लिया गया.

Leave a Reply