विदेशी देशों की खुली पोल: चर्च में सेक्‍स पार्टी के खुलासे से ब्रिटेन में हड़कंप पादरी पर लटकी तलवार

0

ब्रिटेन की राजधानी लंदन के एक चर्च (Church) में सेक्‍स पार्टी के खुलासे से बवाल मच गया है। इस घटना के खुलासे के बाद ईसाइयों के सर्वोच्‍च धर्मगुरु पोप एक्शन में आ गए हैं और वेटिकन ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है।

दरअसल, सेक्‍स पार्टी का आयोजन एक पादरी माइकल मैककॉय ने कोरोना (corona virus) लॉकडाउन के दौरान खाड़ी पड़े चर्च के अंदर किया था। आरोपी पादरी के खिलाफ इस जांच का नेतृत्‍व लीवरपूल के आर्कबिशप कर रहे हैं।वहीं पादरी मैककॉय ने साल 2021 में आत्‍महत्‍या कर ली थी।

खबरों के अनुसार यह सूचना तब सामने आई जब कैथोलिक चर्च के शीर्ष अधिकारी रॉबर्ट बयर्ने के इस्‍तीफे के खिलाफ जांच शुरू की। रॉबर्ट हेक्‍हम और न्‍यूकास्‍टले के पूर्व बिशप थे। यह सामने आया है कि मैककॉय को चर्च के डीन के रूप में रॉबर्ट की जगह लेनी थी। आरोपी पादरी मैककॉय के बारे में कहा गया है कि उसने दिसंबर 2020 में अपने निजी निवास में भक्‍तों को कथित रूप से ‘सेक्‍स’ पार्टी के लिए सहम‍त किया।

पादरी ने चर्च के अंदर किया आयोजन

खबरों की माने तो जब से यह सूचना सार्वजनिक हुई है, बड़ी संख्‍या में लोग मैककॉय के खिलाफ गवाही देने के लिए सामने आए हैं। इस बात का खुलासा हुआ कि पादरी ने चर्च के अंदर बने अपने घर में एक सेक्‍स पार्टी का आयोजन किया था। चर्च के एक सूत्र ने कहा कि यह चर्च उपहास का पात्र बन गया है।

मैककॉय ने 57 साल की उम्र में साल 2021 में आत्‍महत्‍या कर ली थी। उन्होंने ये यह कदम तब उठाया था जब पुलिस ने उसके खिलाफ बाल यौन उत्‍पीड़न के मामले में जांच शुरू कर दी थी। आरोपी मैककॉय को रॉबर्ट ने ही डीन के रूप में चुना था। अभी तक इस बात का खुलासा नहीं हो सका है कि रॉबर्ट ने भी सेक्‍स पार्टी में हिस्‍सा लिया था या नहीं।

Previous articleBBC डॉक्यूमेंट्री: JNU-जामिया होते हुए पंजाब यूनिवर्सिटी तक पहुंचा बवाल, कई छात्र हिरासत में
Next articleलांसेट की स्टडी में दावा कोविशील्ड की बूस्टर डोज कर देती है बेहतर इम्यूनिटी

समाचार पर आपकी राय: