ऊना के खुरवाई जंगल से पकड़ा भगोड़ा अपराधी

शाहतलाई पुलिस को चार दिन बाद मिली कामयाबी, सीएचसी बरठीं से गच्चा देकर हुआ था फरार

निजी संवाददाता-शाहतलाई
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बरठीं से पुलिस कर्मियों को गच्चा देकर फरार हुए आरोपी ने पुलिस कर्मियों की खूब कसरत करवाई।

हालांकि शाहतलाई पुलिस ने चार दिन बाद इस फरार आरोपी को ऊना के खुरवाईं जंगल से धर दबोचा है। लेकिन इस आरोपी को पकडऩे के लिए पुलिस कर्मियों को खूब पसीना बहाना पड़ा है। बाकायदा इस आरोपी को ढूंढने के लिए स्पेशल पुलिस फोर्स का भी प्रयोग किया गया। लेकिन कुछ हाथ नहीं लगने के बाद पुलिस को ऊना के खुरवाईं जंगल में इसके होने की सूचना मिली तो शाहतलाई पुलिस द्वारा की गई इस कार्रवाई को फरार आरोपी को पकडऩे में सफलता मिल पाई। बताया जा रहा है कि शाहतलाई पुलिस को चकमा देकर फरार हुआ यह आरोपी छिपते-छिपते ऊना के जंगल में जा पहुंचा। आरोपी ऊना रेलवे स्टेशन में पहुंचने की फिराक में था। यदि यह आरोपी ऊना रेलवे स्टेशन पहुंच जाता तो इसे पकडऩा और भी मुश्किल हो जाता। लेकिन शाहतलाई पुलिस के प्रयासों से इसे खुरवाईं जंगल से पकड़ लिया गया।

उल्लेखनीय है कि एक मामले में संलिप्त इस आरोपी को तलाई पुलिस से फरार होने के पश्चात शनिवार को जंगल में होने की सूचना मिली। करीब साढ़े 10 बजे थाना प्रभारी कर्मचंद द्वारा बंगाणा पुलिस से संपर्क किया गया। लेकिन शातिर आरोपी बंगाणा पुलिस को भी चकमा देकर मौके का फायदा उठाकर फिर जंगल की तरफ फरार हो गया। लेकिन पुलिस टीमों द्वारा इस आरोपी को कड़ी मशक्कतके बाद पकड़ लिया गया। गौरतलब है कि पिछड़ा क्षेत्र कोटधार के एक व्यक्ति ने उत्तर प्रदेश के दो मजदूरों पर नाबालिग को भगाने की शिकायत शिकायत दर्ज करवाई थी। पुलिस आरोपी व नाबालिग को उत्तर प्रदेश से अपने साथ शाहतलाई ले आई। वहीं, बुधवार रात्रि शाहतलाई पुलिस थाना के कर्मचारी आरोपी का मेडिकल करवाने के लिए समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बरठी ले जाया गया। लेकिन समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बरठीं से आरोपी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था। लेकिन अब पुलिस द्वारा इसे पकड़ लिया गया है। उधर, इस बारे में एसपी बिलासपुर एसआर राणा ने कहा कि आरोपी को पुलिस कर्मचारियों ने जिला ऊना के खुरवार्इं में एक नाले से पकड़ा है। उन्होंने कहा कि पुलिस द्वारा आगामी कार्रवाई की जा रही है।

Please Share this news:
error: Content is protected !!