अंशु की संदिग्ध हालात में मौत, पत्नी ने कंपनी मालिक पर लगाए हत्या के आरोप, पुलिस और फोरेंसिक जांच में जुटी

0
3

काकादेव थाना क्षेत्र के शास्त्री नगर मतैया पुरवा निवासी एक युवक की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। युवक की पत्नी ने उनकी कंपनी के मालिक पर हत्या का आरोप लगाते हुए काकादेव थाने में तहरीर दी है। पुलिस ने मालिक की कार की फोरेंसिक जांच की और साक्ष्य जुटाए। कंपनी संचालक ने बताया कि दोनों लखनऊ से कानपुर लौट रहे थे। शराब पीने के बाद युवक की हालत बिगड़ी और हैलट में डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

मृतक सुशील कुमार उर्फ अंशू

काम कराने को घर से ले गए, लेकर लौटे कर्मचारी की लाश
काकादेव मतैया पुरवा निवासी पिंकी देवी ने बताया कि उनके पति सुशील कुमार उर्फ अंशू अस्पतालों में ऑक्सीजन पाइप लाइन बिछाने का काम करते थे। दिनांक 16 नवंबर को कपंनी के मालिक अभिषेक ऋषि उन्हें अपने साथ लखनऊ साइट पर ले गए थे। देर रात उन्होंने सूचना दी कि आपके पति की तबियत बिगड़ गई है, उन्हें हैलट में भर्ती कराया है। जब हैलट पहुंची तो पति सुशील का शव स्ट्रेचर पर पड़ा मिला। आरोप है कि कंपनी से उनके पति को डेढ़ लाख रुपए से ज्यादा बकाया लेना था। इसी की खुन्नस में कंपनी मालिक अभिषेक ऋषि ने उनके पति की हत्या कर दी है।

काकादेव थाना प्रभारी मनोज वर्मा ने बताया कि मृतक का शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी। आरोप के आधार पर मामले की जांच की जा रही है।

फोरेंसिक टीम ने जुटाए साक्ष्य
थाना प्रभारी मनोज वर्मा ने बताया कि जिस कार से सुशील लखनऊ गए थे। कार की फोरेंसिक जांच कराई गई है। शराब पीने के बाद सुशील ने कार के भीतर ही पलटी की थी। उसके बाद कार में ही दम तोड़ दिया। प्राथमिक जांच में कार में कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला है। कार में दोनों ने शराब पी और सुशील की मौत कैसे हो गई। इस बिंदु पर जांच की जा रही है।

शराब की बोतल और चखना मिला
फोरेंसिक टीम ने बताया कि कार की जांच में शराब की बोतल, प्लास्टिक के गिलास, सिगरेट की डिब्बी, चिप्स व नमकीन के पैकेट समेत अन्य सामान बरामद हुआ है। इससे एक बात तो साफ है कि मौत से पहले युवक ने शराब पी थी। पूछताछ के दौरान कंपनी के संचालक ने इस बात को स्वीकार भी किया है।

समाचार पर आपकी राय: