Ankita Murder Case: क्या सबूत मिटाने के लिए तोड़ा गया रिजॉर्ट, अब तक जनता को नही मिले इन सवालों के जबाब

0
77

Ankita Murder Case: उत्तराखंड में पूर्व मंत्री के बेटे के रिसॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी की मौत पर आए दिन नए-नए खुलासे हो रहे हैं। अंकिता की मौत से न सिर्फ परिजन बल्कि पूरे उत्तराखंड में लोग बेहद गुस्से में हैं।

अंकिता भंडारी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक उसकी मौत पानी में डूबने से हुई है। हालांकि, इससे पहले उसके साथ मारपीट भी हुई है। दूसरी ओर, अंकिता के पिता वीरेंद्र भंडारी ने प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा- जिस रिसॉर्ट में सबूत थे, प्रशासन ने उस पर ही बुलडोजर चला दिया।

सवाल नंबर 1- आखिर किसने दिया रिसॉर्ट तोड़ने का आदेश?
अंकिता के पिता वीरेंद्र भंडारी के मुताबिक, प्रशासन ने ये सब जानबूझकर सबूत मिटाने के लिए किया है। वहीं, इस संबंध में DM विवेक जोगदंडे का कहना है कि रिसॉर्ट पर बुलडोजर चलाने का आदेश किसने दिया, हम इसकी जांच कर रहे हैं।

सवाल नंबर 2- क्यों रिलीज नहीं हुई अंकिता की डिटेल PM रिपोर्ट :
अंकिता भंडारी के पिता का कहना है कि जब तक मेरी बेटी के पोस्टमॉर्टम की डिटेल्ड रिपोर्ट नहीं मिल जाती, तब तक हम उसका अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। इस पर जिलाधिकारी का कहना है कि वे पता कर रहे हैं कि डिटेल्ड पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आखिर क्यों रिलीज नहीं की गई है।

सवाल नंबर 3- पुलकित के रिसॉर्ट को आखिर कैसे मिला लाइसेंस?
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अंकिता मर्डर केस की जांच के लिए SIT बनाई थी। इसकी इंचार्ज DIG पी रेणुका देवी ने रविवार को बताया कि आरोपी पुलकित आर्य के रिसॉर्ट में काम करने वाले सभी लोगों से कड़ी पूछताछ की जा रही है। हम इस बात की भी जांच कर रहे हैं कि पुलकित के रिसॉर्ट को लाइसेंस कैसे मिला? इसके अलावा अंकिता की वॉट्सऐप चैट की भी जांच की जाएगी।

पुलकित ने मर्डर के बाद पुलिस को किया गुमराह :
पुलिस ने जब पुलकित से पूछताछ की, तो उसने बताया कि रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी रिसॉर्ट के एक कमरे में रहती थी। कुछ दिन से वो मानसिक तनाव से गुजर रही थी। इसलिए वो और उसके दोस्त 18 सितंबर को अंकिता को ऋषिकेश घुमाने ले गए थे। देर रात सभी वहां से लौट आए थे। लौटकर सभी रिसॉर्ट में अपने-अपने कमरों में जाकर सो गए। 19 सितंबर की सुबह अंकिता अपने कमरे से गायब थी। हालांकि, पुलिस जांच में यह कहानी झूठी निकली।

सीसीटीवी फुटेज से हुआ खुलासा :
पुलकित की झूठी कहानी के बाद पुलिस ने रिसॉर्ट के कर्मचारियों से पूछताछ की। उन्होंने बताया कि ऋषिकेश जाते समय अंकिता इन लोगों के साथ थी, लेकिन लौटते समय वो नहीं थी। इसके बाद पुलिस ने ऋषिकेश के रास्ते पर लगे CCTV कैमरों के फुटेज खंगाले। इनसे यह साफ हो गया कि रिसॉर्ट से जाते समय 4 लोग थे, लेकिन वापस सिर्फ तीन ही लौटे थे।

समाचार पर आपकी राय: