Aftab Polygraph Test: आफताब से पॉलीग्राफ टेस्ट में पूछे 15 से 18 सवाल, जानें क्या चार दिन में श्रद्धा मिस्ट्री सुलझेगी

0
8

श्रद्धा वॉल्कर की मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को आरोपी आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट किया. इसके चलते पुलिस आफताब को FSL लेकर गई. यहां आफताब करीब साढ़े तीन घंटे तक रहा.

जानकारी के मुताबिक पहले आफताब का प्री-पॉलीग्राफ टेस्ट हुआ. इसके बाद शुरू हुआ पॉलीग्राफ टेस्ट का सिलसिला. इस दौरान आरोपी से तकरीबन 15 से 18 सवाल पूछे गए. दिल्ली पुलिस बुधवार को भी आफताब को FSL में पॉलीग्राफ टेस्ट के लिए लेकर जाएगी.

इससे पहले आफताब की मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए कोर्ट में पेशी हुई. आफताब ने कोर्ट में जज के सामने के कई कबूलनामे किए. कोर्ट में आफताब ने उस हथियार की लोकेशन के बारे में भी बताया, जिससे श्रद्धा के टुकड़े किए थे. वहीं दिल्ली पुलिस को शक है कि आफताब सबको गुमराह कर रहा है.

अभी तक आफताब ने पुलिस को जो कहानी बताई है, वो सही या नहीं, इसका पता लगाने के लिए आऱोपी के पॉलीग्राफी टेस्ट यानी लाई डिटेक्टर टेस्ट कराया. इस दौरान उससे 15 से 18 सवाल पूछे गए. बुधवार को पुलिस फिर से आफताब को एफएसएल लेकर जाएगी. पॉलीग्राफी टेस्ट के बाद उसका नार्को टेस्ट भी किया जाएगा.

श्रद्धा के 35 टुकड़े कहां फेंके?

पिछले 10 दिन से पुलिस ये जानने की कोशिश कर रही है कि आफताब ने श्रद्धा के 35 टुकड़ों को कहां फेंका है. इसके लिए दिल्ली पुलिस की टीमें की जगहों पर पड़ताल कर चुकी है. इसके साथ ही ये भी पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि आफताब ने श्रद्धा के 35 टुकड़े क्यों किए थे.

जबड़ा और दांत सबसे बड़ा सबूत

दिल्ली पुलिस सबूतों की तलाश में भटक रही है. अब तक पुलिस को जो सबसे बड़ा सबूत मिला है वो है एक जबड़ा और एक टूटा हुआ दांत. पुलिस को शक है कि ये जबड़ा और दांत श्रद्धा का है. क्योंकि श्रद्धा ने मुंबई में दांत का रूट कैनाल कराया था. अब पुलिस ने दांत और जबड़े को डीएनए जांच के लिए भेज दिया है.

बॉडी के टुकड़ों का हिसाब रखता था आफताब

इस केस में आज 2 बड़े खुलासे हुए हैं. पहला ये कि उसने श्रद्धा के शव के टुकड़े कहां-कहां फेंके थे, उसका नक्शा बनाया है. दूसरा आफताब के फ्लैट से एक नोट मिला है, जिसमें वो श्रद्धा के टुकड़ों को हिसाब-किताब लिखता था. श्रद्धा के 35 टुकड़े करने वाला आफताब रोज़ाना रात को ढाई बजे अपने फ्लैट से निकलता था और श्रद्धा के एक-एक टुकड़े को ठिकाने लगाकर वापस फ्लैट पर ही लौट आता था.

6 महीने का अतीत खंगाला जा रहा

18 मई 2022 को आफताब ने श्रद्धा की हत्या कर 35 टुकड़े कर दिए थे. लेकिन उसे पुलिस ने 12 नवंबर 2022 को गिरफ्तार किया था. लिहाजा आफताब के 6 महीने का अतीत खंगाला जा रहा है. फ्लैट से लेकर हर उस लोकेशन तक पुलिस जांच कर रही है, जहां आफताब जाता रहा. और श्रद्धा की लाश के एक-एक टुकड़े को ठिकाने लगाता रहा.

सच उगलवाने के लिए 4 दिन अहम

आफताब से श्रद्धा के 35 टुकड़ों का सच उगलवाते-उगलवाते दिल्ली पुलिस को 10 दिन हो चुके हैं. अब 4 दिन की रिमांड और मिली है. पुलिस को जो कुछ करना है. वह सिर्फ 4 दिन में करना है. मतलब दिल्ली पुलिस के सामने 4 दिन में श्रद्धा के सिर समेत 35 टुकड़ों का सच उगलवाने का चैलेंज है.

महरौली के जंगल से पुलिस को क्या मिला?

आफताब के खुलासे पर दिल्ली पुलिस ने महरौली के जंगल से लेकर अलग-अलग लोकेशन से कुछ सबूत एकत्र किए हैं. पुलिस ने महरौली के जंगल से पुलिस ने 13 हड्डियां उठाई हैं. साथ ही एक जबड़ा और एक टूटा हुआ दांत मिला है.

150 से ज़्यादा पुलिसकर्मी चप्पा-चप्पा छान रहे

पुलिस रिमांड के 10वें दिन आफताब ने सबसे बड़ा खुलासा किया है, वो सबसे ज़्यादा चौंकाने वाला है. पुलिस जांच में सामने आया है कि आफताब श्रद्धा के टुकड़ों का पूरा हिसाब-किताब रखता था. वह एक रफ नोट में लिखता था कि उसने श्रद्धा का कौन सा टुकड़ा कहां फेंका है. श्रद्धा के टुकड़ों के इसी साइट प्लान पर दिल्ली पुलिस के 150 से ज़्यादा पुलिसकर्मी चप्पा-चप्पा छान रहे हैं. इसी रफ नोट का जिक्र करके दिल्ली पुलिस ने आफताब की रिमांड भी 4 दिन और बढ़वाई है.

आफताब ने मैदानगढ़ी के तालाब का नक्शा बताया

हत्या साबित करने के लिए शरीर के सारे बॉडी पार्ट्स की जरूरत नहीं होती है. लेकिन कुछ बॉडी पार्ट्स मिल जाएं और डीएनए टेस्ट से पता चल जाए कि ये श्रद्धा के ही हैं, तो पुलिस का काम बेहद आसान हो जाएगा. पुलिस के मुताबिक आफताब ने मैदानगढ़ी के तालाब का
नक्शा बनाकर दिया है. पुलिस तालाब में श्रद्धा का सिर तलाश रही है.

समाचार पर आपकी राय: