चार साल में 7938 अपराधियों को गिरफ्तार किया, 5855 NDPS के मुकदमें हुए दर्ज: जयराम ठाकुर

0

शिमला। सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने शनिवार को चंडीगढ़ में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah)की अध्यक्षता में मादक द्रव्यों की तस्करी एवं राष्ट्रीय सुरक्षा विषय पर आयोजित सम्मेलन को संबोधित किया। सीएम जयराम ने कहा कि पिछले चार साल में एनडीपीएस के तहत 5855 मामले दर्ज किए हैं। इन मामलों में 7938 अपराधियों को किया गिरफ्तार (Arrest) किया है। सीएम ने कहा कि हिमाचल प्रदेश सरकार मादक द्रव्यों की तस्करी और नशे जैसी सामाजिक बुराई के समूल नाश के लिए जीरो टॉलरेंस की नीति पर कार्य कर रही है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि नशे के विरुद्ध जीरो टॉलरेंस की नीति (Zero Tolerance Policy) के अंतर्गत मादक द्रव्यों के उद्गम स्थल से लेकर नशीले पदार्थों के गंतव्य बिंदु तक के नेटवर्क को समाप्त करने के उद्देश्य से मादक द्रव्यों के उत्पादक और आपूर्तिकर्ताओं पर सख्त कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस नीति के तहत प्रदेश स्तर पर राज्य मादक द्रव्य अपराध नियंत्रण इकाई स्थापित की गई है। सीएम जयराम ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में नशे के विरुद्ध तकनीक का समुचित उपयोग किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा वर्ष 2019 में टोल फ्री नशा निवारण हेल्पलाइन नम्बर 1908 आरंभ की गई है। इस हेल्पलाइन का मुख्य उद्देश्य आम जन को मादक पदार्थों के तस्करों की जानकारी साझा करने की दिशा में प्रोत्साहित करना और नशा पीड़ितों एवं उनके अभिभावकों को व्यसन मुक्ति के संदर्भ में परामर्श प्रदान करना है। इस हेल्पलाइन पर मादक द्रव्यों के संबंध में जानकारी देने वालों की पहचान गुप्त रखी जाती है।

मोबाइल ऐप ड्रग फ्री हिमाचल में कारगार हो रही सिद्ध

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार ने वर्ष 2019 में ही एक मोबाइल ऐप ड्रग फ्री हिमाचल भी आरंभ की है। उन्होंने कहा की इस एप पर लोग अपनी पहचान बताए बिना मादक पदार्थों की तस्करी, बिक्री और उपयोग की सूचना पुलिस विभाग को प्रदान कर सकते हैं। इस ऐप को 42000 नागरिकों द्वारा डाउनलोड किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि इस एप पर अभी तक नशे के विरुद्ध 2194 सूचनाएं प्राप्त हुई हैं। इन सूचनाओं के आधार पर नशा तस्करों के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत किए गए हैं।

Previous articleआदिवासी भाजपा नेत्री ने उमरिया के कलेक्टर पर लगाए गंभीर आरोप, कलेक्टर ने भी दर्ज करवाई शिकायत
Next articleफेसबुक पर अनजान लड़की से दोस्ती करना पड़ा भारी, सेक्सटॉर्शन गैंग ने करोड़ों वसूले

समाचार पर आपकी राय: