नैनीताल में पिछले पांच सालों में पुलिस कर्मियों पर दर्ज हुए 12 केस, महिलाओं से की छेड़छाड़, दुष्कर्म, मारपीट और ब्लैकमेलिंग

0
8

हल्द्वानी: महिलाओं की सुरक्षा जिनके जिम्मे है, वहीं छेड़छाड़, दुर्व्यवहार और दुष्कर्म जैसे अपराधों को अंजाम दे रहे हैं। नैनीताल जिले में पिछले पांच साल में 12 पुलिस कर्मियों पर दुष्कर्म, छेड़छाड़, बदसलूकी समेत कई गंभीर आरोप पाए गए हैं। हालांकि इनकी जांच की जा रही है। लेकिन सवाल है कि आखिर सुरक्षा की आस फिर महिलाएं किनसे रखें।

बेटियों की सुरक्षा को चलाई जा रहीं योजनाएं

महिलाओं की सुरक्षा के मामले में सरकार बेहद गंभीर है। महिलाओं की मदद करने और सुरक्षा दिलाने के लिए महिला हेल्प लाइन, गौरा शक्ति एप जैसी कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। इसके बावजूद महिला अपराध बढ़ रहा है। हालात यह हैं कि जिन पर महिला सुरक्षा का जिम्मा है, उन्हीं पर महिलाओं से छेड़छाड़, दुष्कर्म, दुर्व्यवहार, मारपीट, ब्लैकमेलिंग सहित गंभीर आरोप लगे हैं।

इन मामलों में शर्मशार हुई खाकी

  1. एक साल पहले मुखानी थाने में तैनात एक सिपाही को सरेराह नाबालिग के स्वजनों ने पीटा था। उस पर स्कूल से आते जाते समय नाबालिग से छेड़छाड़ करने का आरोप था। वर्दी में पुलिसकर्मी को पीटता हुआ वीडियो इंटरनेट मीडिया में काफी वायरल हुआ था।
  2. दो सितंबर 2022 को नैनीताल में एक पुलिसकर्मी का पीटता हुआ वीडियो भी इंटरनेट मीडिया में काफी वायरल हुआ था। इस पुलिसकर्मी पर राह चलती महिलाओं से छेड़छाड़ करने का आरोप लगा था। मामले में प्राथमिकी भी दर्ज हुई।
  3. रामनगर और लालकुआं में भी पुलिस कर्मी महिलाओं से अभद्रता व छेड़छाड़ जैसी हरकतें कर चुके हैं। हाल में उधम सिंह नगर के जसपुर कोतवाली में तैनात एक कोतवाल पर भी महिला ने छेड़छाड़ समेत कई गंभीर आरोप लगाए थे। इसकी शिकायत डीजीपी से भी की गई। हालांकि बाद में महिला अपनी बातों से पलट गई और शिकायत वापस ले ली थी।
  4. 22 नवंबर 2022 को मुखानी क्षेत्र में रहने वाली महिला बैंककर्मी रुद्रपुर से बस में हल्द्वानी के लिए निकली। रास्ते में एक पीएसी कर्मी उसके बगल में बैठ गया और छेड़छाड़ शुरू कर दी। उसने पुलिस के टोल फ्री नंबर 1090 पर काल किया। साथ ही बस को ट्रांसपोर्ट नगर पुलिस चौकी के पास रुकवा दिया। बस रुकते ही आरोपित फरार हो गया। महिला के अनुसार छेड़छाड़ करने वाले आरोपी ललित चंद्र पीएसी कर्मी है। उस पर एफआई दर्ज हो गई।
  5. 23 नवंबर 2022 को कालाढूंगी निवासी एमबीपीजी कालेज की छात्रा सुबह घर से बस से निकली। इस बीच उसके बगल में पुलिस की वर्दी में एक युवक बैठ गया और अपना नाम जरिफ बताया। बस में ही उसने छेड़छाड़ शुरू कर दी। आरोपित नैनीताल पुलिस लाइन में तैनात है। मुखानी पुलिस ने उसके विरुद्ध प्राथमिकी की है। एसएसपी ने सिपाही जरिफ को निलंबित कर दिया है।

15 दिन पहले चमोली से पहुंचा नैनीताल

छात्रा से छेड़छाड़ करने वाला सिपाही जरिफ 15 दिन पहले चमोली से प्रशासनिक स्वीकृत्ति पर नैनीताल जिले में पहुंचा है। वह पुलिस लाइन में तैनात है। बुधवार को उसे डे हवालात ड्यूटी में पहुंचना था। जहां वह अनुपस्थित रहा। ड्यूटी से गायब रहकर उसने छात्रा से छेड़छाड़ की।

आरआइ व मुंशी से कर चुका है अभद्रता

सिपाही जरिफ का विवादों से पुराना नाता रहा है। लेकिन अधिकारियों की मेहरबानी से वह नैनीताल जिले में ही पोस्टिंग पाता रहा है। पूर्व में जरिफ ने लाइन के आरआइ ने अभद्रता की तो उसका पिथौरागढ़ ट्रांसफर हुआ। वर्ष 2017-18 में उसने हवालात के मुंशी से बदसलूकी की। अब छात्रा से छेड़छाड़ का आरोप है।

आरोपी कोई हो, कड़ी कार्रवाई होगी

नैनीताल जिले के एसएसपी पंकज भट्ट ने कहा की बेटियों की सुरक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। अपराधी कोई भी उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। हालिया हुई हुई दोनों घटनाओं में हुई कार्रवाई इस बात का प्रमाण हैं।

समाचार पर आपकी राय: