Right News

We Know, You Deserve the Truth…

छत्रसाल स्टेडियम कांड में गैंगस्टर के बीच “गर्लफ्रैंड” की एंट्री, जांच में जुटी क्राइम ब्रांच

दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में 4 मई 2021 की रात हुए कत्लेआम की पड़ताल में अब एक “लड़की” की एंट्री हुई है। यह लड़की घटना वाली रात सुशील पहलवान और उनके साथियों द्वारा किये गये हमले में बुरी तरह जख्मी बदमाश सोनू महाल की “गर्लफ्रेंड” बताई जाती है। दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच हांलांकि इन तथ्यों पर गंभीरता से पड़ताल को आगे बढ़ा रही है। कोई बड़ी बात नहीं होगी कि बतौर गवाह ही सही मगर, आने वाले कुछ दिन में जांच में जुटी पुलिस टीमें इस लड़की को बतौर गवाह ही क्यों न सही, पड़ताल में शामिल कर लें। अगर ऐसा हुआ तो संभव है कि यह लड़की सागर धनखड़ हत्याकांड में हो रही जांच को आगे बढ़ाने में कुछ मदद कर सके ।

दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच सूत्रों के मुताबिक, लड़की अभी तक हाथ नहीं आयी है। अगर लड़की की जरुरत महसूस हुई तो उसे भी तलाश कर जांच में शामिल किया जायेगा। 4 मई की रात छत्रसाल स्टेडियम में हुई खून-खराबे की घटना में क्या लड़की की भी कोई सीधी भूमिका रही थी? पूछने पर दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के एक अधिकारी ने कहा, “नहीं अभी तक लड़की की किसी सीधी भूमिका को लेकर कोई इनपुट नहीं है। हां, अब तक गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ के बाद लड़की का नाम जरुर सामने आया है। इसलिए लड़की की तलाश जरुरी है। संभव है कि उससे हासिल कोई क्लू जांच को आगे बढ़ाने में मददगार साबित हो सके।”

सुशील की पत्नी के नाम वाले फ्लैट में हुई थी गैंगस्टर सोनू महाल की बर्थडे पार्टी

सूत्रों के मुताबिक कुख्यात गैंगस्टर सोनू महाल (मलेशिया या दुबई में छिपे बैठे कुख्यात गैंगस्टर संदीप उर्फ काला जठेड़ी का भांजा) का इसी साल मार्च महीने में बर्थ-डे था। सोनू महाल की बर्थडे पार्टी सुशील पहलवान की पत्नी के नाम वाले उसी फ्लैट में आयोजित की गयी थी जिसमें, सोनू महाल और युवा पहलवान सागर धनखड़ (4 मई की रात सुशील पहलवान और उनके साथियों द्वारा सागर धनखड़ की छत्रसाल स्टेडियम में हत्या किये जाने का आरोप है) रहते थे। इसी फ्लैट को खाली कराये जाने को लेकर सुशील पहलवान, सोनू महाल और सागर धनखड़ पर लगातार दबाब बना रहे थे।

पार्टी में मौजूद कुछ चश्मदीदों से ही पुलिस को मिली जानकारी

दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के ही सूत्रों की मानें तो, मार्च महीने में उस फ्लैट में आयोजित बर्थडे पार्टी वाल सोनू महाल और सागर धनखड़ जब कुछ समय के लिए फ्लैट से बाहर गये हुए थे। तभी पीछे से वहां (सुशील पहलवान की पत्नी वाले विवादित फ्लैट पर) सुशील पहलवान का विश्वासपात्र अजय सहरावत उर्फ अजय बक्करवाला पहुंच गया। फ्लैट पर उस पार्टी में मौजूद कुछ चश्मदीदों से ही पुलिस को पता चला है कि, जब अजय वहां पहुंचा तो उसने बर्थडे पार्टी के लिए सजाये गये फ्लैट एक कमरे में सोनू महाल की गर्लफ्रेंड की काफी बड़ी तस्वीर लगी देखी। इससे वो बौखला उठा। साथ ही अजय के हाथ-पांव और बदन को देखने से लग रहा था जैसे वो किसी नशे की जद में हो।

“अब तू देख मैं तेरे घर में मौजूद मां-बहन-बेटियों का क्या हाल करता हूं”

कहा तो यह भी जा रहा है कि अजय ने उसी समय अपने मोबाइल से सोनू महाल की गर्लफ्रेंड की फोटो भी खींच ली। साथ ही उसने वहां मौजूद सोनू महाल की गर्लफ्रेंड को भी काफी भला-बुरा कहा। इसके कुछ समय बाद ही फ्लैट पर लौटे सोनू महाल और सागर धनखड़ को घटना के बारे में पता चला तो वे दोनो आग बबूला हो गये। सोनू महाल ने उसी वक्त अजय बक्करवाला को मोबाइल कॉल करके मन भरके गाली-गलौज की। कहा तो यह भी जाता है कि गर्लफ्रेंड की बेइज्जती से तिलमिलाये सोनू महाल ने, अजय को यहां तक धमका दिया कि, “अब तू देख मैं तेरे घर में मौजूद मां-बहन-बेटियों का क्या हाल करता हूं। तुझे उन सबको बचा मिले तो बचा के दिखाना।”

सोनू महाल से मिली इस खुली धमकी से हड़बड़ाये अजय बक्करवाला उसी दिन से सावधान हो गया। वो सोनू महाल और सागर धनखड़ से सीधे भिड़ने की कुव्वत नहीं रखता था। क्योंकि वे दोनो सुशील पहलवान की पत्नी के फ्लैट में रह रहे थे। लिहाजा अजय ने सोनू महाल और सागर धनखड़ को सबक सिखाने के लिए जो रास्ता चुना, वह 4 मई की रात छत्रसाल स्टेडियम की पार्किंग में हुई खूनी होली पर ही जाकर थमा। इस बारे में दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की जांच में जुटी टीम के सदस्य खुलकर तो कुछ बोलने को राजी नहीं हैं। मगर वे दबी जुबान इन तथ्यों को स्वीकारते जरुर हैं। साथ ही कहते हैं, “अभी किसी संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। अब तक हुई पूछताछ में हां किसी लड़की को लेकर हुए झगड़े का मामूली सा जिक्र आया है।”

सूत्रों की मानें तो सोनू महाल-सागर धनखड़ ने तो बर्थडे पार्टी वाले दिन अजय बक्करवाला का जो कुछ करना था मोबाइल पर गाली-गलौज करके कर दिया। अजय बक्करवाला ने मगर उसी दिन से सुशील पहलवान को विश्वास में लेकर दोनो के खिलाफ उकसाना शुरु कर दिया था। अजय बक्करवाला जानता-समझता था कि वो सोनू महाल और सागर धनखड़ से सीधे नहीं निपट सकता। उनसे हिसाब बराबर करने के लिए हर हाल में सुशील पहलवान को ही साथ लेकर या फिर आगे बढ़ाकर काम साधना होगा। अंतत: 4 मई की वो रात भी आ गयी जब अजय बक्करवाला के कथित रुप से बार-बार उकसाने पर, सुशील पहलवान ने खुद ही सोनू महाल और सागर धनखड़ को फ्लैट से अगवा (अपहरण) करा लिया। उसके बाद सुशील पहलवान और उसके साथियों द्वारा की गयी जानलेवा पिटाई से सागर धनखड़ की मौत हो गयी। जबकि सोनू महाल बुरी तरह से जख्मी हो गया।


Advertise with US: +1 (470) 977-6808 (WhatsApp Only)


Share this news to social media:

error: Content is protected !!