बल्ह में कोरोना ने महज पांच दिन में दो सगे भाइयों की ली जान, डीसी ने बढ़ाई बंदिशें

बल्ह घाटी की कुम्मी पंचायत में कोरोना ने पांच दिन में दो सगे भाइयों की सांसें छीन ली। इससे गांव के लोग बुरी तरह से सहमे हुए हैं। पेशे से दुकानदार 62 वर्षीय लाल सिंह कुछ दिन पहले कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए थे। उन्हें उपचार के लिए नेरचौक मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया था। वहां 24 अप्रैल देर शाम उनकी मौत हो गई थी। 59 वर्षीय छोटा भाई शिवलाल भी संक्रमित हो गया। बुधवार सुबह उसकी भी मौत हो गई। दो भाइयों की दुखद मौत से गांव में मातम का आलम हैं। संकट की इस घड़ी में गांव के लोग भी चाह कर मदद नहीं कर पा रहे हैं।

कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच जिला में बढ़ाई पाबंदियां

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर मंडी जिला में धाम और सामूहिक भोज के आयोजनों पर पूर्णतः रोक लगा दी गई है।

जिला दंडाधिकारी ऋग्वेद ठाकुर ने इसे लेकर आदेश जारी किए हैं। जिला में पहली मई से शादी अथवा अन्य सामाजिक कार्यक्रमों में धाम व सामूहिक भोज के आयोजनों की मनाही रहेगी। पूर्व में शादी समारोहों के लिए दिए धाम आयोजन के अनुमति पत्र अब निरस्त माने जाएंगे। इसके अलावा जिला में देवी-देवताओं की शोभा यात्राओं के आयोजनों को भी पूरी तरह से प्रतिबंधित किया गया है।

अपने घरों अथवा धार्मिक स्थानों में भी ऐसे पूजा, पाठ या भंडारे के आयोजनों की मनाही रहेगी जिनमें लोगों का जमावड़ा हो। आदेशों की अवहेलना करने वालों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। यह आदेश आगामी आदेश तक लागू रहेंगे।ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे के दृष्टिगत संक्रमण से लोगों के बचाव व सुरक्षा के लिए यह पाबंदियां लगाई गई हैं। उन्होंने लोगों से कोविड अनुरूप व्यवहार करने और समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी का ठीक से निर्वहन करने का आग्रह किया।

error: Content is protected !!