IGMC के MS डॉक्टर जनक भी हुए कोरोना पॉजिटिव, शिमला में मिले 584 कोरोना पॉजिटिव

शिमला. हिमाचल प्रदेश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ौतरी हो रही है. अब हर तीसरा व्यक्ति इस वायरस का शिकार हो रहा है. वायरस के प्रकोप से शुक्रवार को कई वीआईपी भी संक्रमित हो गए हैं.

इसमें मंत्री से लेकर कई नेता और अब IGMC के वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ. जनक भी शामिल हैं. वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ. जनक IGMC के साथ तीन अन्य डॉ भी संक्रमित हुए हैं, जिन्होंने खुद को होम आइसोलेट कर दिया है.

बता दें कि वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ. जनक दो दिन पहले IGMC न्यू ओपीडी ब्लॉक के उद्वघाटन कार्यक्रम में भी शामिल हुए थे.उसके बाद उन्होंने खुद का कोरोना टेस्ट करवाया था, जिसमें उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. एमएस के साथ तीन अन्य डॉक्टर भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं.एमएस और अन्य डॉक्टर के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद MS ऑफिस कार्यालय के साथ पूरे फ्लोर को सेनेटाइज़ किया गया है. साथ ही एमएस के पूरे स्टाफ को तीन दिनों की छुट्टी पर भेजा है ताकि वायरस का प्रकोप यहां आने वालों को अपनी चपेट में न ले.

शिमला में दिन 584 नए मामले, 1400 हुए कुल सक्रिय केस

हिमाचल प्रदेश में कोरोना की रफ्तार लगातार बढ़ती जा रही है. विभाग के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, शुक्रवार को 24 घंटे में जिला शिमला में सबसे ज्यादा 584 मामले सामने आए हैं. जिससे जिला में एक्टिव केसों की संख्या 1400 के आंकड़े को पार कर गई है. कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर सरकार की चिंता भी बढ़ रही है. सरकार भले ही यह दावा कर रही है कि अधिकतर कोरोना संक्रमित होम आइसोलेट हुए हैं और वायरस के ज्यादा घबराने की जरुरत नहीं है, लेकिन इससे सतर्क रहना जरूरी है. सरकार का दावा है कि होम आइसोलेट हुए संक्रमितों को सभी तरह की सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं जिसमें कोरोना किट भी दी जा रही है.

Please Share this news:
error: Content is protected !!