ऊना की सब जेल में फैला कोरोना संक्रमण, 46 कैदी निकले कोरोना पॉजिटिव

ऊना: जिला ऊना के बनगढ़ स्थित जिला की सब जेल कोविड-19 का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बन कर उभर रही है। जेल में कोविड-19 इस कदर फैल चुका है कि यहां पर रखे गए करीब 46 कैदी कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं।

सोमवार को एसडीएम ऊना डॉक्टर निधि पटेल ने जेल परिसर पहुंचकर तमाम व्यवस्थाओं का जायजा लिया। जेल में कोविड-19 के बुरी तरह से फैल जाने के चलते जिला प्रशासन ने इसे कोविड केयर सेंटर बनाने का फैसला लिया है। जिला प्रशासन द्वारा वहां पर तैनात कर्मचारियों को भी कोरोना वायरस से सुरक्षा की दृष्टि से उपकरण प्रदान किए गए हैं। जबकि जिला प्रशासन द्वारा जेल में मौजूद अन्य कैदियों और कर्मचारियों को संक्रमण से बचाने के लिए भी भरसक प्रयास किए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि जेल में बंद कैदी पेशियों के लिए जिला से बाहर ले जाए गए थे जिनके लौटने के बाद उनमें कोविड-19 के लक्षण पाए गए। जबकि जांच के दौरान सभी में संक्रमण की पुष्टि हुई है।

जिला के बनगढ़ स्थित सब जेल में कोरोना वायरस बुरी तरह फैल रहा है। मौजूदा परिस्थितियों में जेल में बंद करीब 46 कैदी संक्रमित पाए जा चुके हैं। जिसके चलते कारागार के कुछ हिस्से को ही कोविड केयर सेंटर में तब्दील करने का बड़ा फैसला ले लिया गया है। इसी के चलते सोमवार को एसडीएम डॉ निधि पटेल ने दल बल के साथ मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने जेल में मौजूद अन्य कैदियों और कर्मचारियों को कोविड-19 से बचाव के लिए सुरक्षा उपकरण प्रदान किए। बताया जा रहा है कि कुछ कैदी पेशियों के लिए जिला के बाहर ले जाए गए थे। वही वापस जेल लौटने पर उन्हें कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई दिए जिसके चलते सैंपलिंग करवाने पर सभी लोग पॉजिटिव पाए गए।

इस दौरान इन्हीं बैरकों में मौजूद अन्य कैदियों की जब टेस्टिंग करवाई गई तो सभी लोग संक्रमण की चपेट में पाए गए हैं। हालांकि संक्रमित पाए गए अधिकतर रोगियों में कोई खास लक्षण नजर नहीं आ रहे। वहीं अन्य लोगों की सुरक्षा के दृष्टिगत संक्रमित कैदियों को अलग बैरकों में भेज दिया गया है। एसडीएम डॉ निधि पटेल ने बताया कि रविवार को जेल में बंद कई कैदियों के सैंपल जुटाए गए थे जिनमें से 13 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। उन्होंने कहा कि जेल स्टाफ से कोई भी व्यक्ति अभी तक संक्रमण की चपेट में नहीं आया है। वही संक्रमित पाए गए रोगियों की समय-समय पर जांच की जा रही है। वर्तमान परिस्थितियों में सभी संक्रमित उनका ऑक्सीजन लेवल सही है और किसी में भी सर्दी, खांसी, जुकाम या बुखार जैसा कोई लक्षण नहीं है।

error: Content is protected !!